1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सपा ने फूंका चुनावी बिगुल : ‘मिशन 2022’ को साधने रथ यात्रा लेकर निकले अखिलेश

सपा ने फूंका चुनावी बिगुल : ‘मिशन 2022’ को साधने रथ यात्रा लेकर निकले अखिलेश

यूपी में 2022 होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी ने राजधानी लखनऊ से बुधवार को चुनावी शंखनाद कर दिया है। इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी आज से यूपी में रथ यात्रा की शुरुआत कर दी है। सपा मुखिया अखिलेश यादव लखनऊ से उन्नाव के लिए निकल चुके हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Sps Election Conch Shell Akhilesh Yadav Came Out With Rath Yatra To Fulfill Mission 2022

लखनऊ । यूपी में 2022 होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी ने राजधानी लखनऊ से बुधवार को चुनावी शंखनाद कर दिया है। इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी आज से यूपी में रथ यात्रा की शुरुआत कर दी है।

पढ़ें :- UP Assembly Election 2022: सीएम योगी, डिप्टी सीएम केशव मौर्य समेत ये दिग्गज भी लड़ेंगे विधानसभा का चुनाव

सपा मुखिया अखिलेश यादव लखनऊ से उन्नाव के लिए निकल चुके हैं। राजधानी में हो रही बारिश के बीच करीब डेढ़ सौ जगहों पर रथ यात्रा का सम्मान प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा है।

ग्राम सरौसा में मनोहर लाल इंटर कालेज में मूर्ति अनावरण का प्रोग्राम तय है। पहले इसी इंटर कॉलेज में रैली की योजना थी पर जिला प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी जिसके बाद सपा ने अंतिम समय में प्रोग्राम में बदलाव किया है।

पढ़ें :- अब यूपी में केवल मोदी और योगी  के विकासवाद का युग : डॉ. दिनेश शर्मा  

समाजवादी पार्टी की रथयात्रा में उन्नाव के अलावा हरदोई, कानपुर, रायबरेली सहित अन्य जिलों के लोगों के भी जुटने की संभावना थी। लेकिन इसी बीच जिला प्रशासन ने कोविड प्रोटोकॉल का हवाला देते हुए जनसभा की अनुमति देने से मना कर दिया।

पार्टी के रणनीतिकारों ने बताया कि पहले चरण में महंगाई, बेरोजगारी, महिलाओं के साथ हुए अत्याचार और कोविड अव्यवस्था को मुद्दा बनाया जाएगा। रथयात्रा के दौरान इन मुद्दों को उठाकर जनता से समर्थन मांगा जाएगा। इसके साथ ही सपा सरकार में हुए कार्यों से जनता को वाकिफ कराया जाएगा। इस दौरान जनता को यह भी समझाया जाएगा कि योगी सरकार ने किस तरह से सपा शासनकाल में हुए कार्यों को अपनी उपलब्धि के रूप में भुना रही है। बुधवार की रथयात्रा के बाद गांव-गांव चलो अभियान शुरू होगा। इसमें अलग-अलग गांवों की जिम्मेदारी पार्टी नेताओं को सौंपी जाएगी।

 

पढ़ें :- बांसडीह 362 विधानसभा:- जेपी चंद्रशेखर का वो शिष्य जो आज भी थामें हुए है समाजवादी झंडा, नहीं हुए कभी अपनी विचारधारा से विमुख

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...