समाज को जागरूक करने के लिये सृष्टि ने शुरू की ‘द न्यू डेल्ही नाइट वॉक’

समाज को जागरूक करने के लिये सृष्टि ने शुरू की 'द न्यू डेल्ही नाइट वॉक'
समाज को जागरूक करने के लिये सृष्टि ने शुरू की 'द न्यू डेल्ही नाइट वॉक'

नई दिल्ली। महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण को लेकर समाज में कई अभियान चलाए जाते हैं वहीं 31 वर्षीय सृष्टि बक्शी ने भी महिलाओंं के प्रति समाज में जागरुकता फैलाने की ठान ली है। भारत की महिलाओं को सुरक्षित बनाने की दिशा में लोगों को जागरुक करने के लिए सृष्टि ने दिल्ली में ‘द न्यू डेल्ही नाइट वॉक’ के नाम से इस पहल की शुरुआत की है।

Srishti Bakshis The New Delhi Night Walk With A Special Message :

दिल्ली में अपनी इस यात्रा के पड़ाव पर बक्शी ने रविवार को इंडिया गेट परिसर के लॉन में एक कार्यक्रम को संबोधित किया। यहां अपने इस अभियान के बारे में बताते हुए महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण पर लोगों को जागरुक किया। सृष्टि ने यहां महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण के लिए डिजिटल और वित्तीय साक्षरता के जरुरत पर चर्चा की।


ग्रेटर नोएडा से गीता कॉलोनी तक की पैदल यात्रा

‘द न्यू डेल्ही नाइट वॉक’ इनिशियेटिव के तहत बक्शी ने उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा से रात के 10 बजे दिल्ली के गीता कॉलोनी तक की यात्रा की। 31 वर्षीय सृष्टि बक्शी के साथ इस दौरान कुछ अन्य महिला और पुरुषों के समूह ने भी यात्रा की। इन सब ने अपने हाथों में महिला सुरक्षा पर नारे लिखे हुए प्लैककार्ड पकड़ रखे थे।

इस मामले पर सृष्टि ने कहा कि समाज में बदलाव तभी आ सकता है जब हममें से एक खुद अपने अंदर ये बदलाव लाए। बक्शी ने आगे कहा, इस पहल की शुरुआत मैंने अकेले की थी। लेकिन आज 25,000 लोग हमारे साथ हैं। हम 21वीं सदी में हैं और आज भी हमें बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसे सामाजिक अपराधों का सामना करना पड़ रहा है। बदलाव एक-एक करके ही लाया जा सकता है। सृष्टि ने समाज में महिलाओं को प्रति हिंसा में रोकथाम के लिए लोगों के मानसिकता में बदलाव पर जोर दिया।

बताया जाता है कि दिल्ली में इस अभियान का आयोजन नेशनल कमीशन फॉर वीमेन के तत्वाधान में किया गया था। बक्शी का लक्ष्य 260 दिनों में 3,600 किमी की यात्रा कर 11 राज्यों का सफर तय करना है। इसी अभियान के तहत वह कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक को कवर करना चाहती है जिसका नाम दिया है ‘क्रॉसबो मूवमेंट’।

सृष्टि अब तक 9 राज्यों की 2,800 किमी की यात्रा पूरी कर चुकी है। और अब दिल्ली से वह पंजाब, हरियाणा की यात्रा पर निकलेगी इसके बाद वह जम्मू और कश्मीर की ओर प्रस्थान करेगी। बता दें कि बक्शी ने अपनी ये यात्रा पिछले साल सितंबर में शुरु की थी।

नई दिल्ली। महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण को लेकर समाज में कई अभियान चलाए जाते हैं वहीं 31 वर्षीय सृष्टि बक्शी ने भी महिलाओंं के प्रति समाज में जागरुकता फैलाने की ठान ली है। भारत की महिलाओं को सुरक्षित बनाने की दिशा में लोगों को जागरुक करने के लिए सृष्टि ने दिल्ली में 'द न्यू डेल्ही नाइट वॉक' के नाम से इस पहल की शुरुआत की है।दिल्ली में अपनी इस यात्रा के पड़ाव पर बक्शी ने रविवार को इंडिया गेट परिसर के लॉन में एक कार्यक्रम को संबोधित किया। यहां अपने इस अभियान के बारे में बताते हुए महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण पर लोगों को जागरुक किया। सृष्टि ने यहां महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण के लिए डिजिटल और वित्तीय साक्षरता के जरुरत पर चर्चा की। ग्रेटर नोएडा से गीता कॉलोनी तक की पैदल यात्रा'द न्यू डेल्ही नाइट वॉक' इनिशियेटिव के तहत बक्शी ने उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा से रात के 10 बजे दिल्ली के गीता कॉलोनी तक की यात्रा की। 31 वर्षीय सृष्टि बक्शी के साथ इस दौरान कुछ अन्य महिला और पुरुषों के समूह ने भी यात्रा की। इन सब ने अपने हाथों में महिला सुरक्षा पर नारे लिखे हुए प्लैककार्ड पकड़ रखे थे।इस मामले पर सृष्टि ने कहा कि समाज में बदलाव तभी आ सकता है जब हममें से एक खुद अपने अंदर ये बदलाव लाए। बक्शी ने आगे कहा, इस पहल की शुरुआत मैंने अकेले की थी। लेकिन आज 25,000 लोग हमारे साथ हैं। हम 21वीं सदी में हैं और आज भी हमें बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसे सामाजिक अपराधों का सामना करना पड़ रहा है। बदलाव एक-एक करके ही लाया जा सकता है। सृष्टि ने समाज में महिलाओं को प्रति हिंसा में रोकथाम के लिए लोगों के मानसिकता में बदलाव पर जोर दिया।बताया जाता है कि दिल्ली में इस अभियान का आयोजन नेशनल कमीशन फॉर वीमेन के तत्वाधान में किया गया था। बक्शी का लक्ष्य 260 दिनों में 3,600 किमी की यात्रा कर 11 राज्यों का सफर तय करना है। इसी अभियान के तहत वह कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक को कवर करना चाहती है जिसका नाम दिया है 'क्रॉसबो मूवमेंट'।सृष्टि अब तक 9 राज्यों की 2,800 किमी की यात्रा पूरी कर चुकी है। और अब दिल्ली से वह पंजाब, हरियाणा की यात्रा पर निकलेगी इसके बाद वह जम्मू और कश्मीर की ओर प्रस्थान करेगी। बता दें कि बक्शी ने अपनी ये यात्रा पिछले साल सितंबर में शुरु की थी।