आखिरकार हटाए गए बुलंदशहर एसएसपी, प्रभाकर चौधरी होगे नए कप्तान

prabhakar chaudhary
आखिरकार हटाए गए बुलंदशहर एसएसपी, प्रभाकर चौधरी होगे नए कप्तान

बुलंदशहर। बुलंदशहर के स्याना में गोकशी के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुई इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या के मामले में आखिरकार सरकार हरकत में आ ही गई। सरकार ने कप्तान कृष्ण कुमार सिंह को वहां से हटाकर डीजीपी आफिस से अटैच कर दिया। वहीं सीतापरु के पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी को बुलंदशहर की कमान सौंपी गई है।

Ssp Bulandsahar Krishn Kumar Singh Transferd Prabhakar Chaudhary Will Be New Ssp :

बता दें कि बीते दिनों बुलंदशहर के स्याना थानाक्षेत्र में कुछ लोगों गोवंशों को काटकर खेतों में डाल दिया था। इसकी जानकारी इलाकाई लोगों के साथ बजरंगदल कार्यकर्ताओं को मिली तो सैकड़ों की संख्या में वहां पहुंच गए और हंगामा करने लगे। पुलिस को इसकी सूचना मिली तो स्याना थाने के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह अपनी टीम के साथ वहां पहुंचे। जहां गुस्साई भीड़ पुलिस टीम पर हमलावर हो गई तो सुबोध कुमार के साथ रहे पुलिसकर्मी वहां से भाग निकले, जबकि सुबोध कुमार सिंह को गोली मार दी गई। इस मामले में तूल पकड़ा तो मामले की जांच एसआईटी को दी गई।

जांच में सीधे तौर पर पुलिस प्रशासन की गलती उजागर हुई। बताया जा रहा है बवाल होता देख सुबोध कुमार सिंह ने फोर्स की मांग की थी, लेकिन वहां फोर्स भेजने में काफी देर कर दी। यहीं नहीं कप्तान भी करीब तीन घंटे बाद मौके पर पहुंचे थे। वहीं बुलंदशहर एसएसपी बनाए गए आईपीएस प्रभाकर चौधरी हाल ही सीतापुर में वकीलों के साथ हुए विवाद के मामले में सुर्खियों में आ चुके है।

बुलंदशहर। बुलंदशहर के स्याना में गोकशी के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुई इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या के मामले में आखिरकार सरकार हरकत में आ ही गई। सरकार ने कप्तान कृष्ण कुमार सिंह को वहां से हटाकर डीजीपी आफिस से अटैच कर दिया। वहीं सीतापरु के पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी को बुलंदशहर की कमान सौंपी गई है।बता दें कि बीते दिनों बुलंदशहर के स्याना थानाक्षेत्र में कुछ लोगों गोवंशों को काटकर खेतों में डाल दिया था। इसकी जानकारी इलाकाई लोगों के साथ बजरंगदल कार्यकर्ताओं को मिली तो सैकड़ों की संख्या में वहां पहुंच गए और हंगामा करने लगे। पुलिस को इसकी सूचना मिली तो स्याना थाने के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह अपनी टीम के साथ वहां पहुंचे। जहां गुस्साई भीड़ पुलिस टीम पर हमलावर हो गई तो सुबोध कुमार के साथ रहे पुलिसकर्मी वहां से भाग निकले, जबकि सुबोध कुमार सिंह को गोली मार दी गई। इस मामले में तूल पकड़ा तो मामले की जांच एसआईटी को दी गई।जांच में सीधे तौर पर पुलिस प्रशासन की गलती उजागर हुई। बताया जा रहा है बवाल होता देख सुबोध कुमार सिंह ने फोर्स की मांग की थी, लेकिन वहां फोर्स भेजने में काफी देर कर दी। यहीं नहीं कप्तान भी करीब तीन घंटे बाद मौके पर पहुंचे थे। वहीं बुलंदशहर एसएसपी बनाए गए आईपीएस प्रभाकर चौधरी हाल ही सीतापुर में वकीलों के साथ हुए विवाद के मामले में सुर्खियों में आ चुके है।