1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, करवाचौथ पर मेंहदी लगाने वालों की होगी कोरोना जांच

प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, करवाचौथ पर मेंहदी लगाने वालों की होगी कोरोना जांच

State Governments Big Decision Corona Investigation Will Be Done By Those Who Apply Henna On Karvachauth

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: करवाचौथ के त्योहार के मद्देनजर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को सभी मेंहदी लगाने वालों की कोरोना जांच कराने का फैसला किया है। यह फैसला प्रदेशवासियों खासतौर पर महिलाओं को संक्रमण से बचाने के लिए लिया गया है।

पढ़ें :- केजीएमयू में ओपीडी व भर्ती मरीजों की मुफ्त कोरोना जांच बंद, अब देना होगा इतना शुल्क

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार ने सोमवार को बताया कि बुधवार को करवाचौथ है। इसके मद्देनजर मंगलवार को बड़ी संख्या में विवाहित महिलाएं मेहंदी लगवाने के लिए बाहर निकलेंगी। इन महिलाओं को संक्रमण से बचाने के लिए सरकार ने फैसला किया है कि सभी मेंहदी लगाने वालों की रेंडम सेंपलिंग कराई जाएगी।

प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण को आगे भी नियंत्रित रखने के लिए 16 दिनों का विशेष अभियान चला रही है। 29 अक्तूबर से शुरू हुए इस अभियान में ज्यादा व्यक्तियों के सम्पर्क में रहने वाले लोगों की फोकस सैम्पलिंग कराई जा रही है।

29 अक्टूबर को टेम्पो

तिपहिया वाहन चालकों, रिक्शा चालकों के कोरोना नमूने लिए गए। 30 अक्टूबर को मिठाई की दुकानों, 01 नवम्बर को रेस्टोरेंट और धर्मस्थलों में जाकर कोरोना सैम्पलिंग कराई गई। 03 नवम्बर को शॉपिंग मॉल के सुरक्षाकर्मियों और 04 नवम्बर को वाहनों की दुकानों, इलेक्ट्रिक सामान बेचने वाली दुकानों में जाकर कोरोना नमूने लिए जाएंगे।

गौरतलब है कि संक्रमण को नियंत्रण रखने के लिए राज्य में जून में भी विशेष अभियान चलाया जा चुका है, जिसमें ढाबा संचालकों, दवा विक्रेताओं, ओल्ड एज होम में रहने वाले लोगों, वाहन चालकों आदि के बीच में संक्रमण का स्तर पता लगाने के लिए उनकी कोरोना जांच की गई थी।

पढ़ें :- जानिए कैसा होगा योगी की फ़िल्म सिटी का डिज़ाइन? आज होगा बड़ा फैसला

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...