अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की जांच शुरू

लखनऊ| यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखि‍लेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की जांच शुरू हो गई है| एक्सप्रेस वे का निर्माण करने वाले यूपीडा के सीईओ अवनीश कुमार अवस्थी ने अपनी टीम के साथ रविवार को तीन सौ किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस वे का मुआयना किया| इस दौरान पांच जगहों पर जाकर सड़क निर्माण का काम परखा और सैम्पल लिए| अवनीश अवस्थी ने कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो निर्माण कार्य की जांच सेंट्रल रोड रिसर्च संस्थान( सीआरआरआई) से कराई जाएगी| अवनीश कुमार अवस्थी द्वारा किए गये इस औचक दौरे से यूपीडा में भी हड़कंप का माहौल है| एक्सप्रेस वे के निर्माण से जुड़े कई अफसरों और इंजीनियरों पर गाज गिरनी तय मानी जा रही है|




जांच के लि‍ये बनी इस कमेटी में कमेटी के सीईओ अवनीश अवस्थी, यूपीडा के चीफ इंजीनियर एके पांडेय, टीम लीडर सलाहाकार एके सिन्हा, क्वालिटी कंट्रोलर बीसी तिवारी, चीफ इंजीनियर दीपक कुमार आदि‍ शामि‍ल हैं| जबकि‍ वरि‍ष्ठं आई ए एस अधि‍कारी अवनीश अवस्थी, टीम लीडर हैं| टीम ने कठफोरी से लेकर आगरा की सीमा तक करीब पचास किलोमीटर के क्षेत्र में जांच इस पहले चरण में की| टीम में शामि‍ल वन विभाग के अधिकारि‍यों ने रोड साइड पौधरोपण की स्थिति‍ का जायजा लि‍या तथा मानसून में पौधे पनपने की संभावनाओं को लेकर सुझाव परामर्ष भी दिए| एक्सप्रेसवे पर एक किलोमीटर क्षेत्र में एक हजार पौधे लगाने का लक्ष्य था जबकि‍ वर्तमान में इसके दस प्रति‍शत पौधे भी नहीं लग सके हैं|




मालूम हो कि एक्सप्रेस वे के निर्माण को लेकर पूर्व प्रमुख सचिव सूर्य प्रताप सिंह ने भी तमाम सवाल खड़े किए थे| साथ ही यूपीडा को इसका ऑडिट कराने की चुनौती भी दी थी| एसपी सिंह का दावा था कि एक्सप्रेस के निर्माण में पीडब्ल्यूडी और एनएचएआई के मानकों से ज्यादा लागत का इस्तेमाल किया गया जिससे इसकी लागत बढ़ती चली गयी| वहीं यूपीडा के तत्कालीन सीईओ ने भी उन्हें ऑडिट कराकर आरोप सिद्ध करने की चुनौती दे डाली थी|

लखनऊ| यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखि‍लेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की जांच शुरू हो गई है| एक्सप्रेस वे का निर्माण करने वाले यूपीडा के सीईओ अवनीश कुमार अवस्थी ने अपनी टीम के साथ रविवार को तीन सौ किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस वे का मुआयना किया| इस दौरान पांच जगहों पर जाकर सड़क निर्माण का काम परखा और सैम्पल लिए| अवनीश अवस्थी ने कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो निर्माण कार्य की जांच सेंट्रल रोड रिसर्च संस्थान( सीआरआरआई) से…
Loading...