अयोध्या के विवादित स्थल पर स्थापित हो भगवान बुद्ध की प्रतिमा : बीजेपी सांसद

bjp mp savitribai fule
अयोध्या के विवादित स्थल पर स्थापित हो भगवान बुद्ध की प्रतिमा : बीजेपी सांसद

नई दिल्ली। अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण को लेकर मचे बवाल के बीच बीजेपी सांसद सावित्रीबाई फूले ने उस स्थान पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा प्रतिष्ठापित करने की मांग की है। बहराइच से भाजपा की सांसद सावित्री ने शुक्रवार रात यहां संवाददाताओं से कहा कि उच्च न्यायालय के आदेश पर अयोध्या में जब विवादित स्थल पर खुदाई की गयी थी, तो वहां तथागत से जुड़े अवशेष निकले थे। इसलिए वहां पर बुद्ध की ही प्रतिमा स्थापित होनी चाहिए।

Statue Of Lord Buddha Should Be Stand At The Disputed Place Of Ayodhya Says Bjp Mp :

उन्होंने कहा कि मैं साफ करना चाहती हूँ कि भारत बुद्ध का था। अयोध्या बुद्ध का स्थान है। इसलिए वहां तथागत बुद्ध की ही प्रतिमा स्थापित होनी चाहिए। बता दें कि संघ के प्रचारक एवं भाजपा के राज्य सभा सदस्य राकेश सिन्हा द्वारा राम मंदिर निर्माण के पक्ष में एक निजी विधेयक लाए जाने वाले सवाल पर सावित्रीबाई फूले ने कहा कि भारत का संविधान धर्म निरपेक्ष है, जिसमें सभी धर्मों की सुरक्षा की गारंटी दी गयी है। उन्होने कहा कि देश के साथ ही सांसद और विधायकों को संविधान के तहत ही चलना चाहिए।

बता दें कि बीजेपी सांसद का यह बयान उस वक्त आया है, जब साधु-संत तथा विभिन्न तथाकथित हिन्दूवादी संगठन अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिये कानून बनाने के लिये सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं।

नई दिल्ली। अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण को लेकर मचे बवाल के बीच बीजेपी सांसद सावित्रीबाई फूले ने उस स्थान पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा प्रतिष्ठापित करने की मांग की है। बहराइच से भाजपा की सांसद सावित्री ने शुक्रवार रात यहां संवाददाताओं से कहा कि उच्च न्यायालय के आदेश पर अयोध्या में जब विवादित स्थल पर खुदाई की गयी थी, तो वहां तथागत से जुड़े अवशेष निकले थे। इसलिए वहां पर बुद्ध की ही प्रतिमा स्थापित होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि मैं साफ करना चाहती हूँ कि भारत बुद्ध का था। अयोध्या बुद्ध का स्थान है। इसलिए वहां तथागत बुद्ध की ही प्रतिमा स्थापित होनी चाहिए। बता दें कि संघ के प्रचारक एवं भाजपा के राज्य सभा सदस्य राकेश सिन्हा द्वारा राम मंदिर निर्माण के पक्ष में एक निजी विधेयक लाए जाने वाले सवाल पर सावित्रीबाई फूले ने कहा कि भारत का संविधान धर्म निरपेक्ष है, जिसमें सभी धर्मों की सुरक्षा की गारंटी दी गयी है। उन्होने कहा कि देश के साथ ही सांसद और विधायकों को संविधान के तहत ही चलना चाहिए।बता दें कि बीजेपी सांसद का यह बयान उस वक्त आया है, जब साधु-संत तथा विभिन्न तथाकथित हिन्दूवादी संगठन अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिये कानून बनाने के लिये सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं।