कैंब्रिज में हुआ स्टीफन हॉकिंग का अंतिम संस्कार, चर्च में 76 बार बजायी गयी घंटी, न्यूटन और चार्ल्स डार्विन की कब्र के पास किया गया दफन

stephen-hawking

लंदन : भौतिकीविद और ब्रह्मांड वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का शनिवार को अंतिम संस्कार कैंब्रिज यूनिवर्सिटी कॉलेज के नजदीक एक चर्च में किया गया. वहां उनके परिवार के सदस्य, दोस्तों और सहकर्मियों सहित लगभग 500 लोग मौजूद थे. यह कॉलेज हॉकिंग का 50 से अधिक वर्षों तक अकादमिक घर रहा है.

Stephen Hawking Was Buried Near The Tomb Of Newton And Charles Darwin :

विश्च के मशहूर वैज्ञानिकों और लेखकों में एक हॉकिंग ने 14 मार्च को 76 वर्ष की उम्र में अपने कैंब्रिज स्थित घर में आखिरी सांस ली थी. परदे पर वैज्ञानिक की भूमिका साकार कर ऑस्कर जीतनेवाले ब्रिटिश अभिनेता एडी रेडमेन भी इस दौरान मौजूद थे. हॉकिंग के बच्चों की इच्छा के अनुरूप गॉन्विल में यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट मेरी द ग्रेट और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के कैयुस कॉलेज में उनकी अंतिम सेवा (फ्यूनरल सर्विस) बेहद निजी स्तर पर की गयी. हॉकिंग का ताबूत लाये जाने के समय चर्च के बाहर सैकड़ों लोग जमा थे. उनके सम्मान में चर्च में 76 बार घंटी बजायी गयी.

ब्रिटेन के भौतिक विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग को श्रद्धांजलि देने के लिए शनिवार को बड़ी संख्या में लोग कैंब्रिज पहुंचे। हॉकिंग का अंतिम संस्कार ग्रेट सेंट मैरी चर्च के पास किया गया, जो 50 साल से अधिक समय तक उनका शैक्षणिक घर रहा है। हालांकि यहां आम जनता की पहुंच नहीं हो सकी, क्योंकि परिवार, दोस्तों और सहयोगियों के लिए अंतिम संस्कार कार्यक्रम निजी रखा गया।

कैंब्रिज यूनिवर्सिटी पुलिस के मुताबिक यह कार्यक्रम पूरी तरह से निजी रहा और बिना आमंत्रण के किसी को भी चर्च में अंतिम संस्कार के पहले या इस दौरान प्रवेश नहीं करने दिया गया। दुनिया के सबसे महान वैज्ञानिकों में से एक और समय का संक्षिप्त इतिहास के लेखक ने 14 मार्च को 76 वर्ष की आयु में अपने कैंब्रिज स्थित घर में प्राण छोड़े। ग्रेट सेंट मैरी चर्च में उनके निजी अंतिम संस्कार के दौरान करीब 500 परिवार, दोस्त और साथी यहां मौजूद रहे। हॉकिंग के ताबूत को गोनविले से कैअस कॉलेज तक छह पोर्टरों द्वारा ले जाया गया। ये सभी लोग पारंपरिक वेषभूषा में थे।

मशहूर वैज्ञानिक हॉकिंग के बेटे लुसी, रॉबर्ट और टिम हॉकिंग ने कहा कि उन्होंने कैंब्रिज में अंतिम संस्कार करने का फैसला इसलिए किया क्योंकि उनके पिता को इस शहर से बेहद लगाव था। उन्होंने कहा कि हमारे पिता का जीवन और काम कई लोगों के लिए प्रेरणादायी थे। इनमें धार्मिक और गैर धार्मिक दोनों ही तरह के लोग शामिल थे। स्टीफन हॉकिंग को एक अन्य ब्रिटिश वैज्ञानिक आईजेक न्यूटन और चार्ल्स डार्विन की कब्र के पास दफनाया गया। अंतिम संस्कार केे बाद कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के ट्रिनिटी कॉलेज में एक निजी रिसेप्शन भी दिया गया।

लंदन : भौतिकीविद और ब्रह्मांड वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का शनिवार को अंतिम संस्कार कैंब्रिज यूनिवर्सिटी कॉलेज के नजदीक एक चर्च में किया गया. वहां उनके परिवार के सदस्य, दोस्तों और सहकर्मियों सहित लगभग 500 लोग मौजूद थे. यह कॉलेज हॉकिंग का 50 से अधिक वर्षों तक अकादमिक घर रहा है.विश्च के मशहूर वैज्ञानिकों और लेखकों में एक हॉकिंग ने 14 मार्च को 76 वर्ष की उम्र में अपने कैंब्रिज स्थित घर में आखिरी सांस ली थी. परदे पर वैज्ञानिक की भूमिका साकार कर ऑस्कर जीतनेवाले ब्रिटिश अभिनेता एडी रेडमेन भी इस दौरान मौजूद थे. हॉकिंग के बच्चों की इच्छा के अनुरूप गॉन्विल में यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट मेरी द ग्रेट और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के कैयुस कॉलेज में उनकी अंतिम सेवा (फ्यूनरल सर्विस) बेहद निजी स्तर पर की गयी. हॉकिंग का ताबूत लाये जाने के समय चर्च के बाहर सैकड़ों लोग जमा थे. उनके सम्मान में चर्च में 76 बार घंटी बजायी गयी.ब्रिटेन के भौतिक विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग को श्रद्धांजलि देने के लिए शनिवार को बड़ी संख्या में लोग कैंब्रिज पहुंचे। हॉकिंग का अंतिम संस्कार ग्रेट सेंट मैरी चर्च के पास किया गया, जो 50 साल से अधिक समय तक उनका शैक्षणिक घर रहा है। हालांकि यहां आम जनता की पहुंच नहीं हो सकी, क्योंकि परिवार, दोस्तों और सहयोगियों के लिए अंतिम संस्कार कार्यक्रम निजी रखा गया।कैंब्रिज यूनिवर्सिटी पुलिस के मुताबिक यह कार्यक्रम पूरी तरह से निजी रहा और बिना आमंत्रण के किसी को भी चर्च में अंतिम संस्कार के पहले या इस दौरान प्रवेश नहीं करने दिया गया। दुनिया के सबसे महान वैज्ञानिकों में से एक और समय का संक्षिप्त इतिहास के लेखक ने 14 मार्च को 76 वर्ष की आयु में अपने कैंब्रिज स्थित घर में प्राण छोड़े। ग्रेट सेंट मैरी चर्च में उनके निजी अंतिम संस्कार के दौरान करीब 500 परिवार, दोस्त और साथी यहां मौजूद रहे। हॉकिंग के ताबूत को गोनविले से कैअस कॉलेज तक छह पोर्टरों द्वारा ले जाया गया। ये सभी लोग पारंपरिक वेषभूषा में थे।मशहूर वैज्ञानिक हॉकिंग के बेटे लुसी, रॉबर्ट और टिम हॉकिंग ने कहा कि उन्होंने कैंब्रिज में अंतिम संस्कार करने का फैसला इसलिए किया क्योंकि उनके पिता को इस शहर से बेहद लगाव था। उन्होंने कहा कि हमारे पिता का जीवन और काम कई लोगों के लिए प्रेरणादायी थे। इनमें धार्मिक और गैर धार्मिक दोनों ही तरह के लोग शामिल थे। स्टीफन हॉकिंग को एक अन्य ब्रिटिश वैज्ञानिक आईजेक न्यूटन और चार्ल्स डार्विन की कब्र के पास दफनाया गया। अंतिम संस्कार केे बाद कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के ट्रिनिटी कॉलेज में एक निजी रिसेप्शन भी दिया गया।