1. हिन्दी समाचार
  2. बेरोजगारों को ठगने वाला महाठग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा, जानिए कैसे ठगता था

बेरोजगारों को ठगने वाला महाठग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा, जानिए कैसे ठगता था

Stf Arrested Job Fraud Gang In Lucknow

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ।बेरोजगार युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर अब तक करोड़ों की ठगी को अंजाम दे चुके शातिर ठग को यूपी एसटीएफ ने मंगलवार को विकासनगर इलाके से गिरफ्तार किया। आरोपी के पास से फर्जी दस्तावेज, बाइक, दो मोबाइल और एटीएम कार्ड बरामद किया।

पढ़ें :- IPL 2020: आउट करने पर हार्दिक पांड्या से भिड़े क्रिस मौरिस, फिर जानिए क्या हुआ

एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि मई माह में राजेश पाल, अंकित पाठक, पंकज यादव, मुन्ना यादव, उपेन्द्र यादव सहित कई अन्य युवकों को शिक्षा विभाग, चकबंदी विभाग, राजस्व, स्वास्थ्य और नगर पालिका में अलग-अलग पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजों के एक गैंग में 21 लाख रुपये का चूना लगा दिया था।

इस संबंध में 26 मई को विकासनगर थाने में एफआईआर दर्ज करायी थी। इस मामले में विकासनगर पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी। विकासनगर पुलिस ने इस मामले में यूपी एसटीएफ से मदद मांगी थी। मामले की छानबीन में लगी यूपी एसटीएफ को इस बात का पता चला कि जालसाजों के गैंग का लीडर लखीमपुर खीरी निवासी कुलदीप कुमार है और मौजूदा समय में मडिय़ांव के सिद्घार्थनगर इलाके में रह रहा है।

इस मामले में मंगलवार को यूपी एसटीएफ ने कुलदीप को विकासनगर टेढ़ी पुलिया के पास से गिरफ्तार किया। पुलिस ने उनके पास से भारी मात्रा में फर्जी दस्तावेज, दो मोबाइल, एक एटीएम कार्ड और एक बाइक बरामद की।

80-90 लोगों से अब तक 5 करोड़ ऐंठ चुका है गैंग
पूछताछ में पकड़े गये आरोपी कुलदीप ने बताया कि जीतू सिंह, संदीप श्रीवास्तव और रितू कौर उत्तर प्रदेश के विभिन्न सरकारी विभाग जैसे शिक्षा विभाग, चकबंदी विभाग, राजस्व विभाग, स्वाथ्य विभाग व नगर पालिका परिषद मेें नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों से 5 से 7 लाख रुपये लेते हैं। आरोपी ने बताया कि बलिया निवासी जीतू व रायबरेली निवासी संदीप श्रीवास्तव कैन्डीडेट लेकर आते थे। किस विभाग के लिए कितना रुपये लगेगा यह जीतू और संदीप श्रीवास्तव कैंडीडेट से तय कर के जालसाज कुलदीप को रुपये दिला देते थे। रुपये मिलने के बाद गैंग के लोग नियुक्ति पत्र बेरोजगारों को थमा देते थे। आरोपी ने यह भी बताया कि वह वर्ष 2016 से यह काम कर रहा है। आरोपी ने अब तक 80 से 90 बेरोजगारों से करीब 5 करोड़ की ठगी को अंजाम देने की बात कुबूली है।

पढ़ें :- पाकिस्तान का सबसे बड़ा कुबूलनामा: मंत्री फवाद बोले-पुलवामा हमला इमरान सरकार की बड़ी कामयाबी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...