1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. भारत को कुछ हफ्तों के लिए बंद करो तभी सुधरेंगे हालात : अमेरिकी डॉक्टर

भारत को कुछ हफ्तों के लिए बंद करो तभी सुधरेंगे हालात : अमेरिकी डॉक्टर

भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का तांडव जारी है। इस महामारी की चेन को तोड़ने के लिए कुछ हफ्तों के लिए देश को तत्काल बंद करने की जरूरत है। लॉकडाउन लागू कर कोविड पर बहुत हद तक नियंत्रण पाया जा सकता है, यह बात अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन के मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉ एंथनी एस फौसी ने कही।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Stop India For A Few Weeks Only Then The Situation Will Improve American Doctor

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का तांडव जारी है। इस महामारी की चेन को तोड़ने के लिए कुछ हफ्तों के लिए देश को तत्काल बंद करने की जरूरत है। लॉकडाउन लागू कर कोविड पर बहुत हद तक नियंत्रण पाया जा सकता है, यह बात अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन के मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉ एंथनी एस फौसी ने कही।

पढ़ें :- छोटे शहरों और गांवों में चिकित्सा व्यवस्था 'राम भरोसे', इलाहाबाद हाईकोर्ट की तल्ख टिप्पणी

एक अंग्रेजी अखबार को शुक्रवार को दिए इंटरव्यू में डॉ. एंथनी एस फौसी ने कहा कि भारत में जिस प्रकार कोरोना संक्रमण का फैलाव जारी है। लोग अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड के लिए परेशान हो रहे हैं। दवाओं की कालाबाजारी हो रही है। लोग पूरी तरह से बेबस नजर आ रहे हैं। लोगों को इस वक्त कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है। बेकाबू हो रहे कोरोना की वजह से भारत इस समय कठिन दौड़ से गुजर रहा है। ऐसे में तत्काल रूप से क्या करना जरूरी है जिससे महामारी पर लगाम लग सके। इस स्थिति में देश में कुछ समय के लिए लॉकडाउन लगाने की जरूरत है।

टीकाकरण अभियान को तेज करने की जरूरत

बाइडेन प्रशासन के मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉ फौसी ने टीकाकरण अभियान को तेज करने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि कुछ हफ्ते पहले अगर वैक्सीनेशन ड्राइव को तेज किया जाता तो काफी हद तक इस पर अंकुश लगाया जा सकता था। क्योंकि   इस वक्त भारत में अफरा तफरी मची है, लोगों सड़कों पर ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर दौड़ रहे हैं। अस्पतालों में भर्ती होने के लिए लंबी कतारें लग रही हैं।

कमीशन गठन करना अनिवार्य

पढ़ें :- कोरोना संकट: मौत के आंकड़ों ने बढ़ाई चिंता, संक्रमित मरीजों की दर में आई गिरावट

बाइडेन प्रशासन के मुख्य चिकित्सा सलाहकार और सात अमेरिकी राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके डॉ फौसी ने बताया कि भारत में मेडिकल ऑक्सीजन के लिए मारामारी है। इसके लिए कमीशन गठित करने की जरूरत है। जिससे ऑक्सीजन की आपूर्ति और दवाओं की सप्लाई आसानी से होनी चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X