चीनी बॉक्सर को हराने के बाद विजेंदर ने कुछ ऐसा किया कि जीत लिया देशवासियों का दिल

Story After Beating Chinese Boxer Zulfikar Maimatali Vijender Singh Returns Award And Appeals For Peace At Border In Doklam

नई दिल्ली। भारतीय स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने शनिवार चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मेइमेइतियाली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीतने के बाद जो किया उसे सुन आप भी इस खिलाड़ी को सलाम करेंगे। दरअसल विजेंदर ने जीत के बाद बेल्ट चीनी बॉक्सर को लौटाते हुए कहा, “मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं। मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं और शांति का संदेश सबसे महत्वपूर्ण है।”

ज्ञात हो कि सिक्किम स्थित डोकलाम सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव जारी है, दोनों ही देश अपनी अपनी बात पर टीके हुए है ऐसे में वेजेंदर ने इस जीत के बाद शांति की अपील करते हुए अपनी उम्दा सोच को देश के सामने रखा। विजेंदर के इस पहल के बाद से उनकी चौतरफा सराहना हो रही है। वहीं फाइट की बात करें तो यह विजेंदर के प्रशंसकों के लिये यह दोहरी खुशी का पल था क्योंकि उन्होंने चीनी मुक्केबाज से डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट खिताब भी जीता।

विजेंदर के पेशेवर कैरियर में यह लगातार नौवीं जीत थी। गौरतलब है कि मैच से पहले विजेंदर ने कहा था ‘चीनी उत्पाद अधिक देर नहीं चलते’ लेकिन मुकाबला समाप्त होने के बाद अपने प्रतिद्वंद्वी से प्रभावित भारतीय मुक्केबाज ने कहा, “मुझे ऐसा लगता था कि चीनी मुक्केबाज बहुत देर तक नहीं टिक पाएंगे लेकिन जिस तरह वह खेले, उन्होंने मुझे हैरान कर दिया।”

नई दिल्ली। भारतीय स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने शनिवार चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मेइमेइतियाली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीतने के बाद जो किया उसे सुन आप भी इस खिलाड़ी को सलाम करेंगे। दरअसल विजेंदर ने जीत के बाद बेल्ट चीनी बॉक्सर को लौटाते हुए कहा, "मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं। मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं और शांति का संदेश सबसे महत्वपूर्ण है।" ज्ञात हो कि सिक्किम स्थित…