गोरखपुर : जुए के विवाद में चली गोली, छात्र की मौत

murder
बिहार: भाकपा-माले के पूर्व नेता की हत्या, इलाके में तनाव

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में शनिवार शाम जुए को लेकर विवाद में जमकर मारपीट हुई और फिर दबंगों ने इंटर के छात्र राजू यादव (22) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस घटना में कई अन्य लोग घायल भी हो गए। घटना की भनक पुलिस को लगी तो वो मौके पर पहुंची और घायल को अस्पताल भेजने के साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। उधर अस्पताल में भर्ती घायल युवक की भी हालत डाक्टर ने नाजुक बताई है। स्थानीय लोगों के मुताबिक शनिवार को सुबह जुआ खेलने को लेकर राजू का कुछ लोगों से विवाद हुआ था। इसी रंजिश में हत्या की गई है। एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि आरोपितों की तलाश के लिए पुलिस की आधा दर्जन टीमें लगाई गई हैं।

Student Shot Dead And His Freind Injured After Controversy Over Gambling At Gorakhpur :

तिवारीपुर क्षेत्र में ही सूरजकुंड पोखरे के पास यादव टोला निवासी राजू यादव के पिता सुरेंद्र यादव डेयरी चलाते हैं। राजू भी पढ़ाई के साथ ही उनके काम में हाथ बंटाता था। सुबह दूध निकालने के बाद सुरेंद्र, भैंसों को माधोपुर बंधे से सटे रोहिन नदी के दूसरी तरफ सिउरिया ताल में चरने के लिए हांक देते थे। रोज शाम को नदी पारकर वह भैंसों को वापस लाने जाते थे।

शनिवार की शाम को राजू अपने ही मोहल्ले के हीरालाल यादव के पुत्र अवधेश (23) के साथ भैंसों को लाने गया था। 6:30 बजे के आसपास बाइक से वे माधोपुर बंधे पर पहुंचे। बाइक खड़ी कर वे भैंसों के इस पार आने का इंतजार कर रहे थे। चश्मदीदों के मुताबिक इसी बीच चार युवक उनके पास पहुंचे और बातचीत करने लगे। बातचीत के दौरान ही दो युवकों ने पिस्टल निकालकर राजू और उसके दोस्त पर फायर कर ​दिया। सिर, गले व सीने में गोली लगने से राजू की तो मौके पर ही मौत हो गइ, अवधेश गंभीर रूप से घायल हो गया।

मौके पर पहुंचे पुलिस वालों ने अवधेश को अस्पताल पहुंचाया। राजू के परिजनों ने माधवपुर मोहल्ले के सतीश उर्फ नागा निषाद, उसके भाई वशिष्ठ, झुनझुन और धर्मचंद साहनी पर हत्या का आरोप लगाते हुए नामजद तहरीर दी है। उनकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। मौके पर एसएसपी शलभ माथुर भी पहुंचे। एहतियात के तौर पर मोहल्ले में पुलिस तैनात कर दी गई है।

वहीं राजू की हत्या की खबर मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए। उनके साथ गांव के सैकड़ो लोग मौजूद थे। आक्रोशित लोगों ने घटनास्थल से थोड़ी ही दूरी पर स्थित मुख्य आरोपित नागा निषाद के घर पर धावा बोल दिया और वहां जमकर तोड़फोड़ की। इसकी भनक पाकर वहां पहुंची पुलिस ने किसी तरह उग्र लोगों को शांत कराया।

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में शनिवार शाम जुए को लेकर विवाद में जमकर मारपीट हुई और फिर दबंगों ने इंटर के छात्र राजू यादव (22) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस घटना में कई अन्य लोग घायल भी हो गए। घटना की भनक पुलिस को लगी तो वो मौके पर पहुंची और घायल को अस्पताल भेजने के साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। उधर अस्पताल में भर्ती घायल युवक की भी हालत डाक्टर ने नाजुक बताई है। स्थानीय लोगों के मुताबिक शनिवार को सुबह जुआ खेलने को लेकर राजू का कुछ लोगों से विवाद हुआ था। इसी रंजिश में हत्या की गई है। एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि आरोपितों की तलाश के लिए पुलिस की आधा दर्जन टीमें लगाई गई हैं।तिवारीपुर क्षेत्र में ही सूरजकुंड पोखरे के पास यादव टोला निवासी राजू यादव के पिता सुरेंद्र यादव डेयरी चलाते हैं। राजू भी पढ़ाई के साथ ही उनके काम में हाथ बंटाता था। सुबह दूध निकालने के बाद सुरेंद्र, भैंसों को माधोपुर बंधे से सटे रोहिन नदी के दूसरी तरफ सिउरिया ताल में चरने के लिए हांक देते थे। रोज शाम को नदी पारकर वह भैंसों को वापस लाने जाते थे।शनिवार की शाम को राजू अपने ही मोहल्ले के हीरालाल यादव के पुत्र अवधेश (23) के साथ भैंसों को लाने गया था। 6:30 बजे के आसपास बाइक से वे माधोपुर बंधे पर पहुंचे। बाइक खड़ी कर वे भैंसों के इस पार आने का इंतजार कर रहे थे। चश्मदीदों के मुताबिक इसी बीच चार युवक उनके पास पहुंचे और बातचीत करने लगे। बातचीत के दौरान ही दो युवकों ने पिस्टल निकालकर राजू और उसके दोस्त पर फायर कर ​दिया। सिर, गले व सीने में गोली लगने से राजू की तो मौके पर ही मौत हो गइ, अवधेश गंभीर रूप से घायल हो गया।मौके पर पहुंचे पुलिस वालों ने अवधेश को अस्पताल पहुंचाया। राजू के परिजनों ने माधवपुर मोहल्ले के सतीश उर्फ नागा निषाद, उसके भाई वशिष्ठ, झुनझुन और धर्मचंद साहनी पर हत्या का आरोप लगाते हुए नामजद तहरीर दी है। उनकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। मौके पर एसएसपी शलभ माथुर भी पहुंचे। एहतियात के तौर पर मोहल्ले में पुलिस तैनात कर दी गई है।वहीं राजू की हत्या की खबर मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए। उनके साथ गांव के सैकड़ो लोग मौजूद थे। आक्रोशित लोगों ने घटनास्थल से थोड़ी ही दूरी पर स्थित मुख्य आरोपित नागा निषाद के घर पर धावा बोल दिया और वहां जमकर तोड़फोड़ की। इसकी भनक पाकर वहां पहुंची पुलिस ने किसी तरह उग्र लोगों को शांत कराया।