सिरफिरे दारोगा ने चौकी के अंदर हमराही की गोली मारकर की हत्या

fatehpur constable murder
सिरफिरे दारोगा ने चौकी के अंदर हमराही की गोली मारकर की हत्या

फतेहपुर। फतेहपुर जिले की एक पुलिस चौकी पर तैनात दारोगा पर शनिवार रात गुस्से का ऐसा भूत चढ़ा कि उसने चौकी के अंदर अपने ही हमरारी से ​सर्विस पिस्टल से गोली मारकर हत्या कर दी। गोली चलते ही वहां हड़कंप मच गया।

Su Inspecter Shoot The Constable In Fatehpur :

दारोगा की ये करतूत देख चौकी में तैनात अन्य सिपाही तुरन्त मौके से भाग निकले। बाद में इसकी जानकारी थाने पहुंची तो वो वहां पहुंचे थानाइंचार्ज घायल सिपाही को लेकर तुरन्त जिला अस्पताल पहुंचे, लेकिन इससे पहले ही उसकी सांसे थम चुकी थी। फिलहाल आरोपी दारोगा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

बता दें कि फतेहपुर के किशुनपुर थाना क्षेत्र के विजयीपुर पुलिस चौकी में तैनात दरोगा लक्ष्मी कांत सेंगर ने शनिवार की रात ये सनसनीखेज वारदात अंजाम दी। वो चौकी पर बैठा था, तभी कोई पीड़ित आया और अपनी शिकायत करने के साथ ही लक्ष्मीकांत सेंगर के हमराही इलाहाबाद के नैनी निवासी हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी से अभद्रता करने लगा।

दुर्गेश ने इसका विरोध किया तो दारोगा को ये बात नागवार गुजरी। इसी को लेकर सिपाही और दारोगा में कहासुनी हो गई। इससे आगबबूला हुए लक्ष्मीकांत ने वही पर अपनी सर्विस पिस्टल से दुर्गेश को गोली मार दी।

बताया जाता है कि दुर्गेश की हत्या की जानकारी जैसे ही उसके परिजनों को मिली तो भी देर रात वहां पहुंच गए। उन लोगों की भी पुलिस से जमकर नोकझोंक हुई। जिसके बाद परिजनों ने वहां जमकर हंगामा काटा। फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

फतेहपुर। फतेहपुर जिले की एक पुलिस चौकी पर तैनात दारोगा पर शनिवार रात गुस्से का ऐसा भूत चढ़ा कि उसने चौकी के अंदर अपने ही हमरारी से ​सर्विस पिस्टल से गोली मारकर हत्या कर दी। गोली चलते ही वहां हड़कंप मच गया।दारोगा की ये करतूत देख चौकी में तैनात अन्य सिपाही तुरन्त मौके से भाग निकले। बाद में इसकी जानकारी थाने पहुंची तो वो वहां पहुंचे थानाइंचार्ज घायल सिपाही को लेकर तुरन्त जिला अस्पताल पहुंचे, लेकिन इससे पहले ही उसकी सांसे थम चुकी थी। फिलहाल आरोपी दारोगा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।बता दें कि फतेहपुर के किशुनपुर थाना क्षेत्र के विजयीपुर पुलिस चौकी में तैनात दरोगा लक्ष्मी कांत सेंगर ने शनिवार की रात ये सनसनीखेज वारदात अंजाम दी। वो चौकी पर बैठा था, तभी कोई पीड़ित आया और अपनी शिकायत करने के साथ ही लक्ष्मीकांत सेंगर के हमराही इलाहाबाद के नैनी निवासी हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी से अभद्रता करने लगा।दुर्गेश ने इसका विरोध किया तो दारोगा को ये बात नागवार गुजरी। इसी को लेकर सिपाही और दारोगा में कहासुनी हो गई। इससे आगबबूला हुए लक्ष्मीकांत ने वही पर अपनी सर्विस पिस्टल से दुर्गेश को गोली मार दी।बताया जाता है कि दुर्गेश की हत्या की जानकारी जैसे ही उसके परिजनों को मिली तो भी देर रात वहां पहुंच गए। उन लोगों की भी पुलिस से जमकर नोकझोंक हुई। जिसके बाद परिजनों ने वहां जमकर हंगामा काटा। फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।