यूपी पुलिस के दरोगा ने दिया इस्तीफा, अब बनेगा दिल्ली पुलिस का सिपाही

meerut-police

Sub Inspector Of Up Police Resign From His Post Rejoining In Delhi Police

लखनऊ। आपने अब तक बड़े ओहदे की नौकरी के लिए छोटी नौकरी को छोड़ने के बात सुनी होगी। यह एक सामान्य सी बात है कि बेहतर पोजीशन और रुतबे के लिए लोग ऐसा करते हैं। लेकिन कोई छोटी पोस्ट के लिए बड़ी पोस्ट से इस्तीफा दे दे ऐसा कभी नहीं सुना होगा। उत्तर प्रदेश के पुलिस महकमे में दरोगा के पद पर तैनात अजीत सिंह एक ऐसे ही सरकारी कर्मचारी हैं, जिन्होंने अपनी वर्तमान नौकरी से इस्तीफा देते हुए, पूर्व में छोड़ी गई दिल्ली पुलिस के सिपाही की नौकरी में वापस लौटने का फैसला किया है। उनके ​इस फैसले से उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के रोहटा थाने में तैनात दरोगा अजीत सिंह ने उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए अपना इस्तीफा देने के बाद कहा कि दरोगा के रूप में तैनाती पाने के बाद से वह मशीन बन गए हैं। निजी जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। 24 घंटे ड्यूटी के बीच भोजन करने तक का समय नहीं मिलता, निजी जीवन और परिवार के लिए समय तक नहीं निकाल पाता। जबकि ​इस नौकरी में आने से पहले दिल्ली पुलिस में सिपाही के तौर पर छह साल नौकरी करने के दौरान सब सामान्य था। वहां ड्यूटी के घंटे निर्धारित थे। नियमित अवकाश मिलता था। जब चाहिए होता, छुट्टी मिल जाती थी।

अलीगढ़ जिले के खैर निवासी अजीत सिंह के मुताबिक यूपी पुलिस में दरोगा की नौकरी मिलने के बाद उन्होंने दिल्ली पुलिस के सिपाही के पद से इस्तीफा दिया था। दिल्ली पुलिस के नियामनुसार उन्हें दो साल बाद अपनी तत्कालीन पोस्ट पर वापस लौटने का विकल्प दिया गया था। दिल्ली पुलिस की नौकरी छोड़े हुए उन्हें दो साल पूरे नहीं हुए हैं। अब वह दिल्ली पुलिस के सिपाही के रूप में अपनी पुरानी नौकरी पर लौटने का फैसला कर चुके हैं।

एसएसपी ने इस्तीफे मिलने के बाद अजीत सिंह से की बात —

मेरठ की एसएसपी मंजिल सैनी ने एम समाचार पत्र से बातचीत में कहा है कि उन्होंने दरोगा अजीत सिंह के इस्तीफे के बाद उनसे व्यक्तिगत रूप से बात कर उनकी समस्या के विषय बातचीत की। उनके सामने किसी दूसरे थाने में पोस्टिंग देने की विकल्प भी रखा लेकिन वह इसके लिए राजी नहीं हुए, जिसके बाद उनका इस्तीफा पुलिस भर्ती एवं पदोन्नति विभाग को भेज दिया गया है। गत् वर्ष ही अजीत सिंह ने बतौर दरोगा यूपी पुलिस में भर्ती पाई थी। पहली तैनाती मेरठ जिले में हुई थी, रोहटा थाने में 1 सितंबर को उन्हें भेजा गया था।

लखनऊ। आपने अब तक बड़े ओहदे की नौकरी के लिए छोटी नौकरी को छोड़ने के बात सुनी होगी। यह एक सामान्य सी बात है कि बेहतर पोजीशन और रुतबे के लिए लोग ऐसा करते हैं। लेकिन कोई छोटी पोस्ट के लिए बड़ी पोस्ट से इस्तीफा दे दे ऐसा कभी नहीं सुना होगा। उत्तर प्रदेश के पुलिस महकमे में दरोगा के पद पर तैनात अजीत सिंह एक ऐसे ही सरकारी कर्मचारी हैं, जिन्होंने अपनी वर्तमान नौकरी से इस्तीफा देते हुए, पूर्व…