मिसाल बने अमेठी में तैनात एसआई यशवंत

Yashvant
मिसाल बने अमेठी में तैनात एसआई यशवंत

अमेठी। खाकी वर्दी को पहनने वाला शख्स भी इंसान होता है और इंसानियत उसके भी रग-रग में बसती है। यह बात चरितार्थ कर दिखाई है, अमेठी के मुंसीगंज थाने पर तैनात एस आई यशवंत सिंह यादव ने। सड़क दुर्घटना में घायल हुए एक ट्रक चालक के प्रति एसआई यशवंत सिंह यादव की कर्तव्यनिष्ठा और मानवीय संवेदना ने उन्हें सुर्खियों में ला दिया है। दुर्घटना में घायलों के प्रति उनकी हमदर्दी क्षेत्रीय लोगों के लिए मिशाल बन गई है। अमेठी के मुंसीगंज थाना में तैनात एसआई यशवंत सिंह यादव गश्ती के दौरान घायल भी मुसीबत में फंसे व्यक्तियों की सेवा में पीछे नहीं रहते हैं ।

Sub Inspector Posted At Munshiganj Police Stations Sets Example :

क्या है मामला-

ताजा वाक्या रविवार सुबह का है जब लगभग 4.30 बजे इलाहाबाद से गिट्टी लेकर एक ट्रक चालक गुड्डू उर्फ राज कुमार त्रिपाठी निवासी गोपालगंज इलाहाबाद ट्रक लेकर मुसाफिरखाना की ओर जा रहा था ट्रक जैसे ही मुंशीगंज चौराहे पर पहुचा था कि रायबरेली कि तरफ से आ रहे एक ट्रक से भिंड़त हो गयी दूसरी ट्रक कस्बे की एक दुकान में जा घुसी जिससे दुकान की छत ट्रक के ऊपर गिर गयी मौका देखकर दूसरे ट्रक का ड्राइवर फरार हो गया ।

जब इलाज के साथ खर्च भी किया वहन-

घटना घटित होने के बाद मुंशीगंज चौराहे पर ड्यूटी पर तैनात एस आई यशवंत सिंह यादव ने अपने साथियों के साथ ट्रक में फंसे ट्रक चालक गुड्डू को शीशा तोड़कर बाहर निकाला दुर्घटना में घायल हुए ट्रक चालक की पीड़ा व परेशानी को महसूस कर यशवंत सिंह यादव का मन द्रवित हो उठा और उन्होंने ड्यूटी पर तैनात अपने साथियो की मदद से घायल ट्रक चालक को निजी वाहन से बिना देर किए चिकित्सकसालय में इलाज कराया और इलाज का खर्च भी स्वयं वहन किया ।

मानवता का मिशाल कायम कर रहे एसआई यशवंत सिंह यादव-

एक ओर जहां खाकी के रौब में लोग पैसों की कमाई में जाने कहां तक गिर जाते हैं और मानवता से उनका कोई लेना-देना भी नहीं रहता वहीं इस एस आई यशवंत सिंह यादव के अपने इस प्रेरक कार्य से क्षेत्रवासियों में एक मिशाल कायम कर दी है आज क्षेत्रभर में इनकी घायलों के प्रति संवेदना व दयाभावना चर्चा का विषय बनी है और लोग इनकी मिशाल देने लगे है ।

रिपोर्ट-राम मिश्रा

अमेठी। खाकी वर्दी को पहनने वाला शख्स भी इंसान होता है और इंसानियत उसके भी रग-रग में बसती है। यह बात चरितार्थ कर दिखाई है, अमेठी के मुंसीगंज थाने पर तैनात एस आई यशवंत सिंह यादव ने। सड़क दुर्घटना में घायल हुए एक ट्रक चालक के प्रति एसआई यशवंत सिंह यादव की कर्तव्यनिष्ठा और मानवीय संवेदना ने उन्हें सुर्खियों में ला दिया है। दुर्घटना में घायलों के प्रति उनकी हमदर्दी क्षेत्रीय लोगों के लिए मिशाल बन गई है। अमेठी के मुंसीगंज थाना में तैनात एसआई यशवंत सिंह यादव गश्ती के दौरान घायल भी मुसीबत में फंसे व्यक्तियों की सेवा में पीछे नहीं रहते हैं ।क्या है मामला-ताजा वाक्या रविवार सुबह का है जब लगभग 4.30 बजे इलाहाबाद से गिट्टी लेकर एक ट्रक चालक गुड्डू उर्फ राज कुमार त्रिपाठी निवासी गोपालगंज इलाहाबाद ट्रक लेकर मुसाफिरखाना की ओर जा रहा था ट्रक जैसे ही मुंशीगंज चौराहे पर पहुचा था कि रायबरेली कि तरफ से आ रहे एक ट्रक से भिंड़त हो गयी दूसरी ट्रक कस्बे की एक दुकान में जा घुसी जिससे दुकान की छत ट्रक के ऊपर गिर गयी मौका देखकर दूसरे ट्रक का ड्राइवर फरार हो गया ।जब इलाज के साथ खर्च भी किया वहन-घटना घटित होने के बाद मुंशीगंज चौराहे पर ड्यूटी पर तैनात एस आई यशवंत सिंह यादव ने अपने साथियों के साथ ट्रक में फंसे ट्रक चालक गुड्डू को शीशा तोड़कर बाहर निकाला दुर्घटना में घायल हुए ट्रक चालक की पीड़ा व परेशानी को महसूस कर यशवंत सिंह यादव का मन द्रवित हो उठा और उन्होंने ड्यूटी पर तैनात अपने साथियो की मदद से घायल ट्रक चालक को निजी वाहन से बिना देर किए चिकित्सकसालय में इलाज कराया और इलाज का खर्च भी स्वयं वहन किया ।मानवता का मिशाल कायम कर रहे एसआई यशवंत सिंह यादव-एक ओर जहां खाकी के रौब में लोग पैसों की कमाई में जाने कहां तक गिर जाते हैं और मानवता से उनका कोई लेना-देना भी नहीं रहता वहीं इस एस आई यशवंत सिंह यादव के अपने इस प्रेरक कार्य से क्षेत्रवासियों में एक मिशाल कायम कर दी है आज क्षेत्रभर में इनकी घायलों के प्रति संवेदना व दयाभावना चर्चा का विषय बनी है और लोग इनकी मिशाल देने लगे है ।रिपोर्ट-राम मिश्रा