सुबह से ही मंदिरों में लगी लंबी कतारें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बरेली जनपद में नवरात्र के अवसर मां काल रात्रि देवी की आराधना में लीन शहर के मंदिरों में गोधुलि बेला में आस्था की ज्योति प्रज्जवलित की गई। भोर पहर से शहर के समस्त दुर्गा मंदिर बदायूं रोड़ स्थित चौरासी घंटा मंदिर, कालीबाड़ी स्थित काली मंदिर, सिकलापुर चौहार स्थित मां दुर्गा मंदिर सहित अन्य मंदिर में भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। जहां देवी के दर्शन का तांता लगा रहा। शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित देवी मंदिरों में चैत्र नवरात्र के लिए भक्ति पूर्ण माहौल बनने लगा है।




वहीं इस अवसर पर श्री नाथ नगरी सेवा समिति के सदस्यों के द्वारा पंचेश्वर नाथ मंदिर जिला परिषद परिसर में 11वां सामूहिक फलहार भोज का आयोजन किया। सर्वप्रथम समिति के संरक्षक एवं अध्यक्ष व समस्त कार्यकर्ताओ ने मिलकर पंडित केसरी नंदन कौशिक के निर्देशन में मां भगवती का पूजन किए। पंडित केसरी नंदन ने मां भगवती की भेंट सुनाकर भक्तों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी भक्तों ने सामूहिक दुर्गा चालीसा का पाठ कर मां भगवती की दिव्य आरती की। कार्यक्रम में समिति के प्रदेश अध्यक्ष श्रवण गुप्ता ने कहा कि पिछले निरंतर प्रभु कृपा से सामूहिक फलहार भोज का कार्यक्रम हिन्दू समाज को संगठित करने के भाव से प्रत्येक वर्ष चैत्र माह की सप्तमी को करती आई है।

इस दौरान पंडित प्रदीप चौबे, पंडित विश्वनाथ मिश्र, सोनू, श्रवण गुप्ता, राहुल भसीन, अनमोल रस्तोगी, गौरव प्रकाश, धीरज, विशाल वर्मा, शोभित अग्रवाल, गौरव सक्सेना, योगेंद्र गंगवार, अक्षय सक्सेना, सौरभ यादव आदि मौजूद रहे। शहर के प्रमुख देवी मंदिरों में भक्तों ने माता के दर्शन कर पूजन किया। इस दौरान मंदिरों में मेला सा लगा रहा। भक्तों ने मां कालरात्रि का पूजन कर जाप भी किया। कई भक्तों ने दिन भर का उपवास भी रखा। दोपहर को महिलाओं की मंडली ने मंदिरों में छंद, भजन गाए। भक्ति गीतों पर नृत्य भी किया।




घरों में भी ढोलक की थाप पर माता के भजन सुनाए गए। कई लोगों ने महिलाओं और बच्चियों को पिन्नी खिलाकर माता का पूजन किया। शाम को आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। मंगलवार को अष्टमी का पूजन किया जाएगा। इसमें कई भक्त अपने घरों में कन्या पूजन कर व्रत का परायण भी करेंगे।

Loading...