सुब्रमण्यम स्वामी बोले- नोट पर छापें देवी लक्ष्मी की फोटो, सुधरेगी भारतीय करेंसी

swami
सुब्रमण्यम स्वामी बोले- नोट पर छापें देवी लक्ष्मी की फोटो, सुधरेगी भारतीय करेंसी

नई दिल्ली। बीजेपी के फायरब्रांड नेता सुब्रमण्यम स्वामी इकलौते ऐसे नेता हैं जिनके विचार हमेशा पार्टी से अलग रहते है। अक्सर उनके विवादित बयानो पर विपक्ष बवाल मचा देता है। वहीं अब उन्होने लगातार डॉलर के मुका​बले गिरती भारतीय करेंसी को सुधारने के लिए मोदी सरकार को सलाह दी है कि अगर धन की देवी लक्ष्मी की तस्वीर बैंक नोट में छापे जायें तो भारतीय करेंसी की स्थिति में सुधार हो सकता है। उन्होने कहा कि इस पर किसी को बुरा मानने की जरूरत नहीं है।

Subramanian Swamy Said Print On Note Photo Of Goddess Lakshmi Indian Currency Will Improve :

आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी एक कट्टर हिंदूवादी नेता हैं और वो बीजेपी से राज्ससभा सदस्य भी हैं। वो मध्यप्रदेश के खंडवा में ‘स्वामी विवेकानंद व्याख्यानमाला’ कार्यक्रम में सिरकत करने पंहुचे थे। उन्होने पहले तो ‘स्वामी विवेकानंद व्याख्यानमाला’ विषय पर भाषण दिया, उसके बाद उन्होने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि वो नोट में धन की देवी लक्ष्मी की तस्वीर छापने के पक्ष में हैं।

जब उनसे इंडोनेशिया की करेंसी पर भगवान गणेश की तस्वीर छापने के बारे में पूछा गया तो उन्होने कहा कि ‘इस सवाल का जबाब तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही दे सकते हैं। इसके बाद उन्होने अपनी राय देते हुए कहा कि मैं तो इसके पक्ष में हूं। भगवान गणेश बाधाओं को दूर करते हैं। इसी दौरान उन्होने भारतीय नोटो में भी देवी लक्ष्मी की तस्वीर छापने की वकालत की।

उन्होने इस दौरान नागरिकता संशोधन अधिनियम पर भी बोला, उन्होने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम में आपत्तिजनक कुछ भी नहीं हैं. इस कानून के लिए कांग्रेस और महात्मा गांधी ने खुद अपील की थी। उन्होने बताया कि साल 2003 में संसद में कांग्रेस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने की अपील की थी। हमारी सरकार तो इसे सिर्फ लेकर आयी है, कांग्रेस भ्रम फैला रही है कि पाकिस्तान के मुसलमानों के साथ अन्याय किया है। जब पाकिस्तान के मुसलमान यहां नहीं आना चाहते हैं तो उन्हे हम मजबूर भी नहीं कर सकते हैं।

नई दिल्ली। बीजेपी के फायरब्रांड नेता सुब्रमण्यम स्वामी इकलौते ऐसे नेता हैं जिनके विचार हमेशा पार्टी से अलग रहते है। अक्सर उनके विवादित बयानो पर विपक्ष बवाल मचा देता है। वहीं अब उन्होने लगातार डॉलर के मुका​बले गिरती भारतीय करेंसी को सुधारने के लिए मोदी सरकार को सलाह दी है कि अगर धन की देवी लक्ष्मी की तस्वीर बैंक नोट में छापे जायें तो भारतीय करेंसी की स्थिति में सुधार हो सकता है। उन्होने कहा कि इस पर किसी को बुरा मानने की जरूरत नहीं है। आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी एक कट्टर हिंदूवादी नेता हैं और वो बीजेपी से राज्ससभा सदस्य भी हैं। वो मध्यप्रदेश के खंडवा में 'स्वामी विवेकानंद व्याख्यानमाला' कार्यक्रम में सिरकत करने पंहुचे थे। उन्होने पहले तो ‘स्वामी विवेकानंद व्याख्यानमाला’ विषय पर भाषण दिया, उसके बाद उन्होने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि वो नोट में धन की देवी लक्ष्मी की तस्वीर छापने के पक्ष में हैं। जब उनसे इंडोनेशिया की करेंसी पर भगवान गणेश की तस्वीर छापने के बारे में पूछा गया तो उन्होने कहा कि ‘इस सवाल का जबाब तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही दे सकते हैं। इसके बाद उन्होने अपनी राय देते हुए कहा कि मैं तो इसके पक्ष में हूं। भगवान गणेश बाधाओं को दूर करते हैं। इसी दौरान उन्होने भारतीय नोटो में भी देवी लक्ष्मी की तस्वीर छापने की वकालत की। उन्होने इस दौरान नागरिकता संशोधन अधिनियम पर भी बोला, उन्होने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम में आपत्तिजनक कुछ भी नहीं हैं. इस कानून के लिए कांग्रेस और महात्मा गांधी ने खुद अपील की थी। उन्होने बताया कि साल 2003 में संसद में कांग्रेस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने की अपील की थी। हमारी सरकार तो इसे सिर्फ लेकर आयी है, कांग्रेस भ्रम फैला रही है कि पाकिस्तान के मुसलमानों के साथ अन्याय किया है। जब पाकिस्तान के मुसलमान यहां नहीं आना चाहते हैं तो उन्हे हम मजबूर भी नहीं कर सकते हैं।