छेड़छाड़ की घटना पर गृहमंत्री का शर्मनाक बयान, बोले नए साल और क्रिसमस पर होती रहती हैं ऐसी घटनाएं

नई दिल्ली: महिलाओं से छेड़छाड़ की घटना पर राज्य के गृहमंत्री जी परमेश्वर ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम के लिए युवाओं के रहन-सहन के पश्चिमी तौर-तरीकों को जिम्मेदार बताकर बड़ा बखेड़ा खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं तो नए साल और क्रिसमस के मौके पर होती रहती है।



उन्होंने कहा कि युवा जो लगभग पश्चिमी रंग में रंगे हैं। पश्चिम के लोगों की नकल करने की कोशिश करते हैं। न सिर्फ सोच-विचार में बल्कि कपड़े पहनने के तरीके में भी। मंत्री की टिप्पणी पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने उनसे इस्तीफे की मांग करते हुए ऐसे बयान पर देश की महिलाओं से माफी मांगने को कहा है। अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम ने कहा कि गृहमंत्री की ओर से ऐसा बयान अस्वीकार्य और खेदजनक है। राष्ट्रीय महिला आयोग और कनार्टक राज्य महिला आयोग ने भी घटनाओं को लेकर पुलिस और प्रशासन से अलग-अलग रिपोर्ट मांगी है।




मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि 31 दिसंबर की रात भीड़ नियंत्रित करने के लिए 1,500 पुलिसकर्मी तैनात थे, इसके बावजूद असामाजिक तत्वों ने महिलाओं के साथ छेड़खानी की और उनपर अश्लील टिप्पणियां कीं। उनके मुताबिक पार्टी में अकेले आयी महिलाओं को वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मियों की सहायता लेनी पड़ी और पुरूषों को अपने साथ आई महिलाओं को सुरक्षित ले जाने के दौरान मुश्किलों का सामना करना पड़ा।