डीएम ने की निर्बल वर्ग के छात्र/छात्राओं के विकास की अनोखी पहल

सुलतानपुर : जिलाधिकारी एस.राजलिंगम ने केशकुमारी बालिका इण्टर कालेज में बेसिक शिक्षा विभाग के माध्यम से निर्बल वर्ग के छात्र/छात्राओं के लिये संचालित सायंकालीन कक्षा का निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान शिक्षिकाओं से बच्चों की समस्याओं व प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि नये सत्र में इन बच्चों को स्कूल में नामांकित कराकर उन्हें मुख्यधारा से जोड़ा जाय।




उन्होंने कहा कि इन बच्चों को एम.डी.एम. आज से देना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देशित किया कि गोलाघाट पुल के पास रहने वाले परिवारों का सर्वेक्षण कर गर्भवती / धात्री महिलाओं के लिये उचित व्यवस्था करें।

जिलाधिकारी बच्चों को “हाइजनिक” किट देने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जो अन्य बच्चे स्कूल नहीं जा रहे हैं, उन्हें भी इस केन्द्र पर लाया जाय। इस अवसर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कौस्तुभ कुमार सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी महोदय की पहल पर गोलाघाट के पास टोकरी का काम करने वालों के बच्चे जो स्कूल नहीं जा रहे थे।




उनका बेसिक शिक्षा विभाग एवं प्रथम एजुकेशन फाउन्डेशन एन.जी.ओ. के माध्यम से सर्वे कराकर उन्हें केशकुमारी बालिका इण्टर कालेज में सायंकालीन कक्षा संचालित कर उन्हें समाज की मुख्य धारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। पिछले लगभग नौ महीने से शुरू इस कार्यक्रम में बच्चों के अन्दर न सिर्फ स्कूल जाने की प्रवृत्ति बढ़ी बल्कि बच्चे अपना नाम भी लिखने लगे हैं।

सुलतानपुर से बृजेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट