ग्रामीणों ने घेरा जिलाधिकारी कार्यालय, जमकर की नारेबाजी

सुल्तानपुर: आज जहां उत्तर प्रदेश सरकार गर्भवती महिलाओ व कुपोषित बच्चों के लिए नई-नई योजनाएं चला रही है वही आज इसमें शामिल मुखिया ही जहां सब को लाभ देने के लिए तैनात किया जाता है। वही लोग गोल-माल करने से बाज़ नही आ रहे हैं।

ताज़ा मामला है जयसिंहपुर क्षेत्र के कांधापुर, चंदनपुर व गोपालपुर का,जहां आज सैकड़ो ग्रामीण महिलाये और पुरुषों ने जिलाधिकारी कार्यालय का आज घेराव किया और नारेबाजी की। जयसिंहपुर क्षेत्र के गोपालपुर व कांधापुर गांव में दो सेंटर होने के बाद भी आज तक वहाँ पर कोई नही मिलता। जो भी आंगनबाड़ी का सामान आता है। उसे चोरी चोरी से बेच दिया जाता है। जिसकी शिकायत कई बार की ग्रामीणों ने लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नही हुई।




जिसके विरोध में आज सैकड़ो महिलाओ ने फिर जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव किया। और जमकर लगाए नारे। यह मामला सुल्तानपुर जनपद के वि.ख. जयसिंहपुर क्षेत्र पंचायत गोपालपुर गांव का है। जहाँ पर दो आंगनबाड़ी सेंटर बनाये है। वहाँ के रहने वाले सैकड़ो ग्रामीण महिलाओं का आरोप है। कि जो भी यहाँ आंगनबाड़ी सेंटर बनाये गए है। वह कभी खुलता नही है वहाँ पर कभी कोई आता नही है और न ही किसी महिला, न ही किसी बच्चे को कोई पुस्टाहार न ही घी मिलता है।




जिसको इन लोगो द्वारा फ़र्ज़ी तरीके से फ़र्ज़ी हस्ताक्षर व अंगूठा का चिन्ह लगवाकर बेच दिया जाता है जब ग्रामीणों ने इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की तो वहाँ पर गुंडो की मदद से उन शिकायतकर्ताओ पर जुर्म किया जाता है। और फ़र्ज़ी तरीके से उन्हें फसा कर पुलिस को इन्ववाल्ब किया जाता है। जिससे पुलिस इन लोगो को परेशान करेगी तो यह लोग शिकायत नही करेंगे और आंगनबाड़ी इंचार्जों का गोल-माल का धन्धा जमकर चलता रहेगा।

सुलतानपुर से बृजेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट