सुलतानपुर जिले में डबल मर्डर बना संशय, जाँच में जुटी पुलिस

सुल्तानपुर: उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर जिले में थाना कुड़वार के नौगावां रायतासी गावँ में डबल मर्डर से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। पहले बाइक सवार दो युवकों द्वारा प्रधानपुत्री की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई। वही घटना को अंजाम देकर भाग रहे युवकों में से एक युवक को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और इतना पीट दिया कि उसकी भी मौत हो गई। फिलहाल दूसरा युवक भागने में सफल रहा।




दिन दहाड़े हुये इन दो हत्याओं से इलाके में दहशत का माहौल है। फिलहाल पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। फिलहाल प्रथम दृष्ट्या ये मामला प्रेम प्रसंग से जोड़कर देखा जा रहा है।

दरअसल ये मामला है कुड़वार थानाक्षेत्र के नवगवां रायताशी गांव का, जहां इस गांव की महिला प्रधान तारा सिंह की बेटी ज्योति को बाइक सवार दो युवकों ने चाक़ूवो से मारकर हत्या कर दी है। बाइक सवार युवक घटना को अंजाम देकर भाग रहे थे तो ग्रामीणो ने उन्हें घेर लिया । जिसमे से एक युवक ग्रामीणों की गिरफ्त में आ गया। ग्रामीणों ने उसकी इस कदर पिटाई की कि उसने भी घटना स्थल पर दम तोड़ दिया। फिलहाल दूसरा युवक भागने में सफल रहा। वही दो हत्याओं की खबर सुनते ही पुलिस के होश उड़ गये। आनन् फानन में मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की तफसीश में जुट गई है।

क्या कहना है मृतक युवती की माँ का.





मृतक युवती की माँ से जब इस घटना की जानकारी मिडिया ने लेनी चाही तो मृतक युवती की माँ ने बताया कि सफ़ेद बाइक से दो लोग आये मुँह पूरा ढका हुआ थाएकाला चस्मा लगाए हुए थे,और घर में घुस आये और कहने लगे की मैं आपकी लड़की से सादी करना चाहता हूँ ,और आपकी लड़की दूसरे से सादी कर रही है,मैंने कहा की मेरे लड़की कि सादी तय हो गई है और अगले महीने उसकी सादी है और तुम यहाँ से चले जाओ,इतने में एक ने चाकू से गोद कर मेरी लड़की को मार डाला,मेरी चिल्लाने की आवाज सुन गाँव वाले एक्तत्रित हो गए और उसको भी पीट पीट कर मार डाला।

परिजनों का आरोप है कि मेरे बेटे की धोखे से हत्या की गई है और इसे ग्रामीणों के जरिये अंजाम दिया जाने का तूल देकर हत्या से मुह मोड़ा जा रहा है। परिजनों का आरोप यह भी है कि मेरा मुकदमा पंजीकृत करे पुलिस। नही तो हम तब तक अपने बेटे श्याम बहादुर का अंतिम संस्कार नही करेंगे।

सुलतानपुर से बृजेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट