पढ़ाई के साथ साथ खेल अतिरिक्त रूप में होना आवश्यक : जिलाधिकारी

सुल्तानपुर: सुलतानपुर जनपद के पंत स्पोर्ट्स स्टेडियम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे जिलाधिकारी ,जहाँ खेल विभाग और शिक्षा विभाग के अधिकारियो ने जिलाधिकारी और सीडीओ एवं एडीएम को टीका लगाकर स्वागत किया,वही जिलाधिकारी ने खेल शुभारम्भ के पहले दीप प्रज्वलित किया।बच्चो द्वारा स्वागत गीत गाकर अधिकारि यो का उत्साहवर्धन किया गया। उसके बाद जिलाधिकारी द्वारा झंडारोहण कर कबूतर को आसमान में छोड़ खेल का शुभारम्भ किया गया।



इस अवसर पर जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त ब्लाकों से आये छात्र छात्राओं के मार्च पास्ट की सलामी ली तथा चैम्पियन मशाल जूनियर छात्रा को देकर रवाना किया।उसके बाद दौड़ प्रतिभागियों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। जिसमे कबड्डी,खो खो और पीटी जैसे अनेक खेल का आयोजन किया गया।

पढ़ाई के साथ.साथ खेल भी आवश्यक है डीएम एस.राजलिंगम ने आज पंत स्पोर्टस स्टेडियम सुलतानपुर में आयोजित तीन दिवसीय 31वीं जनपदीय बाल क्रीडा़ प्रतियोेगिता का शुभारम्भ औपचारिक रूप से जिलाधिकारी ने किया और कहा कि पढ़ाई के साथ.साथ खेल भी जरूरी है। खेल शरीर के साथ साथ दिमाग को भी दुरूस्त रखता है और व्यायाम भी हो जाता है। उन्होने कहा कि सभी के अन्दर खेल की भावना होनी चाहिये।




खेल में हार.जीत को सकारात्मक रूप से लेने की भावना विकसित होती है। उन्होनें कहा कि पढ़ाई के साथ साथ खेल अतिरिक्त रूप में होना चाहिये, इससे विभिन्न प्रकार के प्रतियोगी परीक्षाओं में भी फायदा मिलता है। जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित उनकी टीम को बधाई दी और कहा कि उत्साहपूर्वक जनपदीय बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता को सफल बनायें।

सुल्तानपुर से बृजेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट