फिल्म अभिनेता राजपाल ने सुल्तानपुर से फूंका चुनावी बिगुल

सुल्तानपुर: सिने अभिनेता व हास्य कलाकार राजपाल यादव ने आज सुल्तानपुर में मोदी के नोट बंदी को क्रांतिकारी कदम बताया और कहा कि इससे देश में अभूतपूर्व परिवर्तन होगा। इस पर विरोध नही होना चाहिए बल्कि मिलजुल कर उत्पन्न समस्या का समाधान निकालना चाहिए। उत्तर प्रदेश का चुनावी समर शुरू होने से पहले सर्व समभाव पार्टी नाम की एक नई पार्टी का बीजरोपण हुआ है, जिसका आगाज आज सुल्तानपुर से किया गया। सर्व समभाव पार्टी की नीव आज से ठीक एक महीने पहले 27 अक्टूबर को श्रीपाल यादव की अध्यक्षता में की गई। श्रीपाल यादव इस नई पार्टी के पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष और राजेश यादव महासचिव बनाये गए है। यह पार्टी सर्व समभाव, समरसता के उद्देश्य को लेकर शुरू किया गया है। इसके स्टार प्रचारक सिने अभिनेता राजपाल यादव की पहली रैली आज सुल्तानपुर में हुई।




रैली को संबोधित करते हुए सिने अभिनेता ने कहा कि नोटबन्दी से भाजपा के लोगो को भी परेशानी हो रही होगी। वे लोग विरोध नही कर रहे है। सभी परेशान है। हमें भी समर्थन कर समाधान का रास्ता ढूढ़ना चाहिए। उन्होंने कहाकि उनकी पार्टी 2017 के चुनाव में 13 सीटे सम्मान के लिए छोड़ेगी और 390 सीटो पर स्वाभिमान के लिए चुनाव लड़ेगी। उन्होंने नव गठित पार्टी के बारे में बताते हुए कहा कि हमें सातो समन्दर को 27 बार घूमने का मौका मिला इसके पीछे बड़े भाई श्रीपाल यादव और छोटे भाई राजेश पाल यादव साथ और हाथ रहा है। पौने दो सौ फिल्मों में काम किया है देखा है कि जब कोई सिने अभिनेता राजनीति में जाता है वह न अभिनेता रहता है और न ही राजनितिक। हर व्यक्ति की जिंदगी में तीन आयाम होते है। व्यापार,परिवार और प्रचार और मेरे साथ में भी प्रचार जुड़ ही गया।




उत्तर प्रदेश अपने मिया मिट्ठू बनता है। हमने देश को बहुत कुछ दिया है। प्रदेश को क्या मिला है। वोटो से उतर कर संवाद के मंच पर आइये। जिस दिन ऐसा होगा उसी दिन प्रदेश का सही निर्माण होगा। आज से राजनीति रूपी सेवा में जुड़ना चाहते है। आज तक हम किसी अभिनेता को अपने घर नही ला सके। प्रदेश विकास में बदहाल है। प्रदेश से बहुत पीएम सीएम हुए किंतु हमें 70 साल में कुछ नही मिला। यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में प्रधानो की सरकार बने। चार बड़े कैंसर अस्पताल क्यों नही। किसानो से पूछकर रेट तय क्यों नही किया जाता है। ऎसे कई सवाल सत्ता में आई सरकारों से किया।

इससे पहले पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीपाल यादव ने कहाकि वोटो के खातिर हमें जातीय व धर्मों में बाट दिया गया है। व्यवसाय हो या नौकरी में लोग उसी क्षेत्र में ही बढ़ना चाहता है किन्तु किसान अपने क्षेत्र में पुनः नही आना चाहता है। आज सबसे ज्यादा उपेक्षा किसानो की है। समाज की स्थिति को देखते हुए नई पार्टी बनाई है। इस मौके पर पार्टी में राजेश पाल यादव, उदयराज वर्मा, अनिल वर्मा मुख्य है।

सुल्तानपुर से बृजेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट