मझवारा हत्याकाण्ड: गवाह की गोली मारकर हत्या, एक अन्य घायल

सुल्तानपुर: पांच वर्ष पूर्व में मझवारा गांव के कानूनगो की हत्या के गवाह की बीती रात मंझवारा गांव में अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। इस दौरान एक अन्य युवक को भी गोली लगी है। जिसे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय ले जाया गया। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।




बीती देर रात मंझवारा गांव गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा। इसी गांव के निवासी रहे लेखपाल रामकुमार यादव हत्याकांड मामले में गवाह बनने के बाद गवाही से मुकरने वाले करीब तीस वर्षीय युवक अजीत सिंह यादव की हत्या कर दी गई। इस दौरान एक अन्य युवक मोहन सिंह भी गोली लगने से घायल हुआ है। उसे जिला चिकित्सालय ले जाया गया। जिस समय वारदात हुई लोग घर के सामने अलाव ताप रहे थे। मालूम हो कि वर्ष 2011 में लेखपाल रामकुमार की हत्या कर दी गई थी, जिसका मुकदमा फैजाबाद जिला में चल रहा है। वही मृतक अजीत यादव के पिता का कहना है कि कमला देवी जिला पंचायत सदस्य वार्ड न 22 के है जो कि जबरन अब हमारा सबकुछ कब्ज़ा कर ले रही है जिसका हमलोग विरोध करते है और उनका हमारा लड़का गवाही भी है। अब लगता हैं कि कही मेरा लड़का गवाही से मुकर न जाय,इसलिए वो यह हत्या कराई है।




वहीं, युवक मोहन का कहना है कि हम अपने मोटर साइकिल से जा रहे थे तभी अजीत रास्ते में मिल गया तो उसे बैठाकर ले जा रहा था तभी कमला देवी के समर्थको ने उस युवक को भी गोली मार दी। वह घायल होकर गिर गया और अपनी जान बचा कर भागा, गोलियों की आवाज़ सुन गांव वाले मौके पर पहुँचे और आनन-फानन में नजदीकी पुलिस चौकी ले गए। फिर उसके बाद उसे ब्लॉक पर ईलाज़ कराया गया। तब उसे कुड़ेभार थाना ले जाया गया जहाँ उसकी मदद से थाना कुड़ेभार में तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया गया। उसके बाद उसे सुलतानपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहा उसका ईलाज़ चल रहा है।