IPL 11: KKR की बढ़ी मुश्किलें, स्टार खिलाड़ी पर लग सकता है बैन
IPL 11: KKR की बढ़ी मुश्किलें, स्टार खिलाड़ी पर लग सकता है बैन

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL)के 11वें सीजन से पहले वेस्‍टइंडीज के करिश्‍माई ऑफ स्पिनर सुनील नरेन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इस समय पाकिस्‍तान सुपर लीग (PSL)में लाहौर कलंदर्स की ओर से खेल रहे नरेन के एक्‍शन को संदिग्‍ध माना गया है। यह विवाद इतना बढ़ा है कि उनकी आईपीएल में खेलने पर सवाल खड़े हो गए हैं। आईपीएल में सुनील नरेन, शाहरुख खान की कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR)की टीम का हिस्‍सा हैं। वह टीम के उन दो खिलाड़ि‍यों में से हैं जिन्‍हें KKR ने रिटेन किया है। आईपीएल को आगाज 7 अप्रैल से होगा।

नरेन पर केकेआर ने खर्च किए हैं 12.5 करोड रुपए

{ यह भी पढ़ें:- IPL 2018 : राजस्थान को हराकर विजयी आगाज चाहेंगे चेन्नई के 'किंग्स' }

वेस्ट इंडीज के इस स्टार स्पिनर पर केकेआर टीम ने 12.5 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। गौरतलब है कि नरेन उन 2 क्रिकेटर्स में शामिल हैं, जिन्हें केकेआर ने इस सीजन के लिए रिटेन किया था। नरेन के अलावा इस लिस्ट में वेस्ट इंडीज के ही ऑलराउंडर आंद्रे रसेल का नाम है।

पहले ही मुश्किल में है KKR

{ यह भी पढ़ें:- सहवाग की तारीफ़ करते हुए बोले गेल, 'मुझे चुनकर आईपीएल को बचा लिया' }

आईपीएल शुरू होने में बस चंद दिन बाकी हैं, लेकिन शाहरुख खान और जूही चावला की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।पहले टीम को अपने कप्तान के चुनाव के लिए जूझना पड़ा अब टीम खिलाड़ियों की चोट से परेशान है।

आईपीएल में भी खेलना हुआ संदिग्ध

वैस्टइंडीज की तरफ से छह टेस्ट, 65 वनडे और 48 टी-20 खेलने वाले नेरेन पर एक्शन के लिए क्रिकेट वैस्टइंडीज को बॉलिंग की वीडियो फुटेज भेजी गई है। अगर जांच दौरान नेरेन दोषी पाए गए तो आईपीएल में उनका खेलना संदिग्ध हो जाएगा। बता दें कि नेरेन कोलकाता नाइट राइडर्स के प्रमुख स्पिन गेंदबाज हैं।

{ यह भी पढ़ें:- IPL2018 : पंजाब ने जीता टॉस, पहले बल्लेबाजी का फैसला }

पहले ही संदिग्ध एक्शन के कारण हो चुके हैं बाहर

ऐसा पहली बार नहीं है जब संदिग्ध एक्शन के चलते नेरेन पर उंगली उठी हो। इससे पहले 2014 में चैंपियन लीग के दौरान भी उनके संदिग्ध एक्शन पर सवाल उठे थे। इसी कारण 2015 में हुए वल्र्ड कप से पहले नेरेन को वैस्टइंडीज टीम से अपना नाम वापस लेना पड़ा था। इसके बाद नवंबर 2016 में श्रीलंका के खिलाफ उनकी बॉलिंग की रिपोर्ट हुई। जो बायो-मैक्निकल टेस्ट हुआ उसमें नेरेन दोषी पाए गए। कहा गया कि नेरेन ने निर्धारित 15 डिग्री से ज्यादा क्लाई घुमाई है।