राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी- दोनों पक्ष आपसी बातचीत से सुलझाएं मामला

Supreme Court Asks Parties To Resolve Ram Mandir Issue Amicably

नई दिल्ली| सुप्रीम कोर्ट ने एक बेहद अहम टिप्पणी करते हुए मंगलवार को कहा कि राम मंदिर का मुद्दा दोनों पक्षों को आपसी बातचीत से हल करना चाहिए| चीफ जस्टिस जगदीश सिंह खेहर ने कहा कि दोनों पक्षों को मिल-बैठकर इस मुद्दे को कोर्ट के बाहर हल करना चाहिए| कोर्ट के मुताबिक, दोनों पक्ष इसके लिए वार्ताकार तय कर सकते हैं जो विचार-विमर्श करें|




बता दें कि बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कोर्ट से मांग की कि वह पिछले छह साल से लंबित इस मामले पर सुनवाई करते हुए जल्द फैसला सुनाएं| उन्होंने कहा कि राम का जन्म जहां हुआ था, वह जगह नहीं बदली जा सकती| नमाज कहीं भी पढ़ी जा सकती है|




इस पर चीफ न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर ने कहा कि यह मामला धर्म और आस्था से जुड़ा हुआ है इसलिए दोनों पक्ष आपस में बैठें और बातचीत के ज़रिये हल निकालने की कोशिश करें| अगर सहमति नहीं बनती तो सुप्रीम कोर्ट दखल देने और मामले को हल के लिए मध्यस्थ नियुक्त करने के लिए तैयार है| हालांकि सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि दोनों समुदाय इस मुद्दे को लेकर हठी हैं और साथ नहीं बैठेंगे|

नई दिल्ली| सुप्रीम कोर्ट ने एक बेहद अहम टिप्पणी करते हुए मंगलवार को कहा कि राम मंदिर का मुद्दा दोनों पक्षों को आपसी बातचीत से हल करना चाहिए| चीफ जस्टिस जगदीश सिंह खेहर ने कहा कि दोनों पक्षों को मिल-बैठकर इस मुद्दे को कोर्ट के बाहर हल करना चाहिए| कोर्ट के मुताबिक, दोनों पक्ष इसके लिए वार्ताकार तय कर सकते हैं जो विचार-विमर्श करें| बता दें कि बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कोर्ट से मांग की कि वह पिछले छह…