1. हिन्दी समाचार
  2. सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की कोरोना मरीजों के शव कब्रिस्तान में दफनाने पर रोक संबंधी याचिका

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की कोरोना मरीजों के शव कब्रिस्तान में दफनाने पर रोक संबंधी याचिका

Supreme Court Dismisses Petition To Stop Burial Of Corona Patients In Cemetery

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई के बांद्रा पश्चिम क्षेत्र के तीन कब्रिस्तानों में कोरोना वायरस मरीजों के शवों को दफनाने पर रोक लगाने के लिए एक याचिका खारिज करते हुए इस पर विचार करने से इनकार कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने दोबारा इस मामले को बॉम्बे हाईकोर्ट को वापस भेज दिया है। बाम्बे हाईकोर्ट के रोक लगाने से इनकार किए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका दाखिल की गई थी।

पढ़ें :- 20 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाला है आर्थिक लाभ, जानिए अपनी राशि का हाल

न्यायमूर्ति रोहिंटन नरीमन और इंदिरा बनर्जी की दो सदस्यीय पीठ ने इस मामले को बॉम्बे उच्च न्यायालय को संदर्भित करते हुए कहा कि उच्च न्यायालय ने अंतरिम चरण में मामले का फैसला किया था और दो सप्ताह में लंबित याचिका पर फैसला करने का निर्देश दिया था। यह याचिका बांद्रा वेस्ट में रहने वाले प्रदीप गांधी ने दाखिल की है। बाम्बे हाईकोर्ट के रोक लगाने से इनकार किए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका दाखिल की गई है। हाईकोर्ट ने गत 27 अप्रैल को गांधी की मांग ठुकरा दी थी। हालांकि इस बीच नावापाड़ा मस्जिद बांद्रा और शांताक्रूज गोलीबार दरगाह ट्रस्ट ने भी एक हस्तक्षेप अर्जी दाखिल कर उसे भी इस मामले में सुने जाने की गुहार लगाई है। ट्रस्ट ने याचिका का विरोध किया है और हाईकोर्ट के आदेश को सही बताया है।

कोरोना संक्रमण से मरे लोगों को बांद्रा के घनी आबादी के बीच स्थित कब्रिस्तान में दफनाने पर रोक लगाने की मांग करते हुए गांधी ने बांबे हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ दाखिल अपनी विशेष अनुमति याचिका में कहा है कि वहां आसपास स्थित तीन कब्रिस्तानों में कोरोना संक्रमण से मरे लोगों के दफनाने पर रोक लगाई जाए, क्योंकि वहां स्थित कब्रिस्तानों के आसपास 330000 लोगों की आबादी निवास करती है। एक किलोमीटर पर करीब 29000 लोगों का घनत्व है। याचिका में कहा गया है कि वहां स्थित तीनों कब्रिस्तान एक दूसरे से जुड़े हुए हैं और याचिकाकर्ता के घर के बिल्कुल नजदीक हैं। ये कब्रिस्तान चारों तरफ से रिहायशी कालोनी से घिरे हुए हैं। वहां पर कोरोना संक्रमितों को दफनाए जाने से आसपास के इलाके में कोरोना फैलने का खतरा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...