1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. सुप्रीम कोर्ट का कोरोना अस्पतालों को सख्‍त निर्देश, 4 सप्ताह में लें फायर डिपार्टमेंट से लें नो ऑब्‍जेक्‍शन सर्टिफिकेट

सुप्रीम कोर्ट का कोरोना अस्पतालों को सख्‍त निर्देश, 4 सप्ताह में लें फायर डिपार्टमेंट से लें नो ऑब्‍जेक्‍शन सर्टिफिकेट

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्‍ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज देश के सभी राज्‍यों में स्‍थित कोरोना अस्‍पतालों की सुरक्षा को लेकर निर्देश जारी करते हुए कहा कि ‘कोरोना अस्पतालों में आग की सुरक्षा संबंधित ऑडिट करा इसके लिए फायर डिपार्टमेंट से नो ऑब्‍जेक्‍शन सर्टिफिकेट (NOC) लेना होगा और नोडल अधिकारी की नियुक्‍ति करनी होगी।’ इन निर्देशों का पालन करने के लिए कोर्ट ने चार सप्ताह का समय दिय़ा है।

पढ़ें :- Omicron variant : SII ने Covishield Vaccine के लिए बूस्टर खुराक के रूप में मांगी मंजूरी

कोविड अस्‍पतालों में काम करने वाले डॉक्‍टरों को राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘सरकार ऐसा तंत्र विकसित करें जिसमें लगातार काम कर रहे डॉक्टरों को क्रमवार ब्रेक दिया जाए।’ सुनवाई कर रही बेंच ने कहा कि जिन अस्‍पतालों की NOC एक्‍सपायर हो चुकी है वे उसे चार सप्‍ताह के भीतर रिन्‍यू करा लें। साथ ही बेंच ने कहा कि राजनीतिक रैलियों व कोविड-19 दिशानिर्देशों का मामला चुनाव आयोग देखेगी।

27 नवंबर को गुजरात के राजकोट में एक कोविड-19 अस्पताल में भीषण आग लग गई थी, जिसमें पांच कोरोना मरीज की मौत हो गई थी। बताया गया था कि कोविड-19 अस्पताल के आईसीयू में यह आग लगी थी। फायर ब्रिगेड के अधिकारी का कहना था कि अस्पताल से अन्य 30 कोरोना मरीजों का रेस्क्यू किया गया। बाद में उनमें से और दो मरीजों की मौत हो गई।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...