1. हिन्दी समाचार
  2. सुप्रीम कोर्ट: ‘इंडिया’ और ‘भारत’ को लेकर दाखिल याचिका पर सुनवाई स्थगित

सुप्रीम कोर्ट: ‘इंडिया’ और ‘भारत’ को लेकर दाखिल याचिका पर सुनवाई स्थगित

Supreme Court Hearing On Petition Filed For India And India Adjourned

By बलराम सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को उस मामले की सुनवाई स्थगित कर दी गई जिसमें देश के अंग्रेजी नाम ‘इंडिया’ से बदलकर ‘भारत’ करने की याचिका की गई है। शीर्ष अदालत ने इस याचिका पर सुनवाई के लिए अगली तारीख भी नहीं बताई है। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबडे को इस मामले की सुनवाई करनी थी। हालांकि वह आज अवकाश पर थे, इसलिए मामले की सुनवाई स्थगित कर दी गई।

पढ़ें :- दीनदयाल जी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी : रवि किशन

कोर्ट में आज देश के अंग्रेजी नाम इंडिया को बदलने की याचिका पर सुनवाई की जानी थी। देश के अंग्रेजी नाम ‘इंडिया’ पर याचिकाकर्ता नम: ने आपत्ति जताई है और सुप्रीम कोर्ट से इसे बदलकर ‘भारत’ करने का आग्रह किया है। याचिकाकर्ता नम: ने कोर्ट से देश का अंग्रेजी नाम इंडिया से बदलकर भारत करने की गुजारिश की है।

याचिकाकर्ता ने कोर्ट के समक्ष जो याचिका पेश की है उसमें कहा है कि देश का अंग्रेजी नाम इंडिया शब्द गुलामी की निशानी है। अत: देश का नाम एक ही होना चाहिए। याचिकाकर्ता का कहना है कि संविधान के अनुच्छेद 1 में संशोधन कर देश का अंग्रेजी नाम इंडिया शब्द को हटा दिया जाए। देश को मूल और प्रमाणिक नाम भारत से ही मान्यता दी जानी चाहिए। याचिका में कहा गया है कि अंग्रेजी नाम के हटने से हमारी राष्ट्रीयता, खास तौर से भावी पीढ़ी को अभिमान रहेगा।

महाराज भरत के कारण देश का नाम ‘भारत’

महाराज भरत ने देश का संपूर्ण विस्तार किया और इसलिए ही देश का नाम उनसे जुड़ गया और ‘भारत’ हो गया। इसके बाद मध्य युग में तुर्क और ईरान से लोग यहां आए और सिंधु घाटी में प्रवेश किया। ये सब ‘स’ का उच्चारण ‘ह’ करते थे जिससे हिंदुओं का देश हिंदुस्तान हो गया। लेकिन जब अंग्रेजों ने भारत को अपना गुलाम बनाया तब उन्होंने इंडस वैली यानी सिंधु घाटी के आधार पर इस देश का नाम इंडिया कर दिया।

पढ़ें :- ड्रग्स के खिलाफ मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री जी का आभारी हूँ: सांसद रवि किशन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...