सिनेमाघरों में अब फिल्म दिखाने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं: सुप्रीम कोर्ट

सिनेमाघरों में अब फिल्म दिखाने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि सिनेमाघरों में फिल्म दिखाने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं है। इससे पहले गृह मंत्रालय ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि सिनेमा हॉल में फिल्म से पहले राष्ट्रगान अनिवार्य नहीं होना चाहिए। इसको लेकर ठोस नियम तैयार करने के लिए केंद्र सरकार ने कोर्ट से समय भी मांगा था।

प्रधान न्यायधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने नवंबर 2016 में दिए अपने ही आदेश में बदलाव करते हुए यह आदेश दिया। इससे पहले सर्वोच्च न्यायालय ने अपने पूर्व फैसले के तहत सिनेमाघरों में फिल्म दिखाए जाने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य कर दिया था।

{ यह भी पढ़ें:- SC ने कहा- 'जब बैंडिट क्वीन रिलीज हो सकती है तो पद्मावत क्‍यों नहीं' }

सुप्रीम कोर्ट ने 30 नवंबर, 2016 के आदेश में सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान के बजाने को अनिवार्य कर दिया था। उस दौरान लोगों को हर हाल में खड़े होना था। हालांकि बाद में दिव्यांगों के लिए अदालत ने अपने आदेश में संशोधन भी किया था। कोर्ट ने यह फैसला श्याम प्रसाद चौकसे की याचिका पर दिया था।

{ यह भी पढ़ें:- भारतीय न्यायपालिका का काला दिन, सुप्रीम कोर्ट के 4 सीनियर जजों ने व्यवस्था पर खड़े किए सवाल }

Loading...