आसाराम को नहीं मिली जमानत, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका

asaram
आसाराम को नहीं मिली जमानत, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका

नई दिल्ली। आसाराम को सुप्रीम कोर्ट से एक बार फिर झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम की जमानत याचिका खारिज कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि गुजरात ट्रायल कोर्ट में चल रही सुनवाई जब तक पूरी नहीं हो जाती तब तक उन्हें जमानत नहीं दी जा सकती है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात ट्रायल कोर्ट से जल्द इस मामले की सुनवाई पूरी करने को भी कहा है।

Supreme Court Rejects Bail Plea Of Asaram :

सुप्रीम कोर्ट ने रेप केस में सजा काट रहे आसाराम की जमानत याचिका खारिज कर दी है। ये मामला गुजरात के सूरत रेप केस से जुड़ी है। इस मामले में आसाराम ने जमानत की मांग की थी। जस्टिस एन वी रामना की बेंच में हुई सुनवाई के दौरान गुजरात सरकार की पैरवी कर रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इस मामले में अभी सुनवाई चल ही रही है और 10 गवाहों से जिरह होना बाकी है।

2013 में शिकायत दर्ज हुई, जिसने खराब दिनों की शुरुआत की

जिस मामले ने उन्हें सींखचों के पीछे पहुंचाया वो 20 अगस्त 2013 में दिल्ली के कमला नेहरू बाजार थाने में दर्ज कराई गई रिपोर्ट थी। इसमें एक नाबालिग ने आरोप लगाया था कि 15 अगस्त 2013 की रात को राजस्थान के जोधपुर स्थित मणाई आश्रम में आसाराम ने उसके साथ रेप किया। इसके बाद पुलिस आसाराम के खिलाफ सक्रिय हो गई। उन्होंने छिपकर पुलिस को झांसा देने की कोशिश की, लेकिन आखिरकर 31 अगस्त 2013 को गिरफ्तार कर लिया गया। तब से वो जेल में ही है। इसी मामले में उसे सजा भी सुनाई गई है।

नई दिल्ली। आसाराम को सुप्रीम कोर्ट से एक बार फिर झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम की जमानत याचिका खारिज कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि गुजरात ट्रायल कोर्ट में चल रही सुनवाई जब तक पूरी नहीं हो जाती तब तक उन्हें जमानत नहीं दी जा सकती है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात ट्रायल कोर्ट से जल्द इस मामले की सुनवाई पूरी करने को भी कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने रेप केस में सजा काट रहे आसाराम की जमानत याचिका खारिज कर दी है। ये मामला गुजरात के सूरत रेप केस से जुड़ी है। इस मामले में आसाराम ने जमानत की मांग की थी। जस्टिस एन वी रामना की बेंच में हुई सुनवाई के दौरान गुजरात सरकार की पैरवी कर रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इस मामले में अभी सुनवाई चल ही रही है और 10 गवाहों से जिरह होना बाकी है। 2013 में शिकायत दर्ज हुई, जिसने खराब दिनों की शुरुआत की जिस मामले ने उन्हें सींखचों के पीछे पहुंचाया वो 20 अगस्त 2013 में दिल्ली के कमला नेहरू बाजार थाने में दर्ज कराई गई रिपोर्ट थी। इसमें एक नाबालिग ने आरोप लगाया था कि 15 अगस्त 2013 की रात को राजस्थान के जोधपुर स्थित मणाई आश्रम में आसाराम ने उसके साथ रेप किया। इसके बाद पुलिस आसाराम के खिलाफ सक्रिय हो गई। उन्होंने छिपकर पुलिस को झांसा देने की कोशिश की, लेकिन आखिरकर 31 अगस्त 2013 को गिरफ्तार कर लिया गया। तब से वो जेल में ही है। इसी मामले में उसे सजा भी सुनाई गई है।