‘चौकीदार चोर है’ बयान पर फंसे राहुल गांधी, सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस

supreem court
'चौकीदार चोर है' बयान पर फंसे राहुल गांधी, सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस

नई दिल्ली। ‘चौकीदार चोर है’ बयान पर राहुल गांधी फंस गये हैं। सुप्रीम कोर्ट इसको लेकर नोटिस जारी किया है। बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की याचिका पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस जारी किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने 22 अप्रैल तक नोटिस का जवाब देने को कहा है। इसके साथ ही 23 अप्रैल तक मामले की सुनवाई स्थगित कर दी गयी है।

Supreme Court Sent Notice To Rahul Gandhi On Watchmans Thief Statement :

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगई की पीठ ने कहा कि कोर्ट ने पीएम नरेन्द्र मोदी को लेकर ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की है। इसका मतलब है कि राहुल गांधी का बयान गलत है। कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी ने शीर्ष अदालत की टिप्पणी को गलत तरह से पेश किया है। पिछले शुक्रवार बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका दायर की थी।

उन्होंने उच्चतम न्यायालय में राहुल गांधी के खिलाफ राफेल मामले में पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर की गई टिप्पणी ‘चौकीदार चोर है’ को लेकर अवमानना याचिका दायर की थी। कोर्ट ने सोमवार को इस पर सुनवाई की और राहुल गांधी को नोटिस जारी किया।

सांसद मीनाक्षी लेखी का आरोप था कि राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को गलत तरह से लोगों के बीच पेश किया है। उनका कहना है कि राहुल गांधी ने ‘चौकीदार चोर है’ बयान को इस तरह से पेश किया जैसे वह बयान उच्चतम न्यायालय का हो।

गौरतलब है कि अमेठी में नामाकंन दाखिल करने के बाद राहुल गांधी ने बयान दिया था, जिसमें कहा था कि अब सुप्रीम कोर्ट ने भी मान​ लिया है कि ‘चौकीदार चोर है’। वहीं इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले पर दोबार सुनवाई का फैसला लिया था।

नई दिल्ली। 'चौकीदार चोर है' बयान पर राहुल गांधी फंस गये हैं। सुप्रीम कोर्ट इसको लेकर नोटिस जारी किया है। बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की याचिका पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस जारी किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने 22 अप्रैल तक नोटिस का जवाब देने को कहा है। इसके साथ ही 23 अप्रैल तक मामले की सुनवाई स्थगित कर दी गयी है।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगई की पीठ ने कहा कि कोर्ट ने पीएम नरेन्द्र मोदी को लेकर ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की है। इसका मतलब है कि राहुल गांधी का बयान गलत है। कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी ने शीर्ष अदालत की टिप्पणी को गलत तरह से पेश किया है। पिछले शुक्रवार बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका दायर की थी।

उन्होंने उच्चतम न्यायालय में राहुल गांधी के खिलाफ राफेल मामले में पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर की गई टिप्पणी 'चौकीदार चोर है' को लेकर अवमानना याचिका दायर की थी। कोर्ट ने सोमवार को इस पर सुनवाई की और राहुल गांधी को नोटिस जारी किया।

सांसद मीनाक्षी लेखी का आरोप था कि राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को गलत तरह से लोगों के बीच पेश किया है। उनका कहना है कि राहुल गांधी ने 'चौकीदार चोर है' बयान को इस तरह से पेश किया जैसे वह बयान उच्चतम न्यायालय का हो।

गौरतलब है कि अमेठी में नामाकंन दाखिल करने के बाद राहुल गांधी ने बयान दिया था, जिसमें कहा था कि अब सुप्रीम कोर्ट ने भी मान​ लिया है कि 'चौकीदार चोर है'। वहीं इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले पर दोबार सुनवाई का फैसला लिया था।