बिहार: पत्रकार राजदेव हत्याकांड की जांच के लिए सीबीआई को मिले 3 महीने

नई दिल्ली। बिहार के चर्चित पत्रकार राजदेव हत्याकांड की जांच कर रही सीबीआई को सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कड़े निर्देश देते हुए कहा है कि जांच को तीन महीनों के भीतर पूरा किया जाए। इसके साथ ही अदालत ने इस मामले के छह आरोपियों की जमानत पर रोक लगाते हुए सिवान जिले की सेशन कोर्ट के जज आरोपियों के खिलाफ तत्काल हुई कार्रवाई पर हलफनामा पेश करने को कहा है।




मिली जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने सिवान जिला सेशन कोर्ट से पूछा है कि वह बताएं कि इस मामले के आरोपी शूटर सैफ की पूर्व सांसद शहबुद्दीन के रिहाई जुलूस और बिहार सरकार के मंत्री तेजप्रताप सिंह के सा​थ सामने आई तस्वीरें कब की हैं? क्या उन तारीखों से पहले आरोपी के खिलाफ कोई वारंट जारी किया गया था? और समय आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए क्या प्रयास किए गए थे?

इसके साथ ही अदालत ने सीबीआई से इस मामले की जांच की स्टेटस रिपोर्ट अदालत में पेश करने का निर्देश भी दिया है। सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख को देखते कहा जा रहा है कि इस मामले की जांच में मंत्री तेजप्रताप सिंह की मुसीबतें बढ़ने के साथ—साथ सीवान के तत्कालिक प्रशासनिक अधिकारियों पर भी कार्रवाई हो सकती है।



Loading...