रोहिंग्या मुसलमानों की याचिका पर आज सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

sc
रोहिंग्या मुसलमानों की याचिका पर आज सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। देश में सांप्रदायिक राजनीति का मुद्दा बनते जा रहे रोहिंग्या मुसलमानों की ओर से सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दाखिल की गई याचिका पर आज सुनवाई होनी है। इस याचिका भारत सरकार के उस फैसले को चुनौती दी है जिसमें अप्रवासीय कानून का उल्लंघन कर आए रोहिंग्या मुसलमानों को भारत से वापस भेजने को कहा गया है।

Supreme Court Will Hear On Rohingya Muslims Issue :

मिली जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच इस याचिका पर सुनवाई करेगी। जस्टिस जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ भी इस बेंच का हिस्सा रहेंगे।

भारत सरकार इस मसले पर पहले ही अपना हलफनामा सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दाखिल कर चुकी है। जिसमें स्पष्ट रूप से कहा गया है कि यह फैसला कार्यपालिका का है सर्वोच्च न्यायालय से उम्मीद की जाती है कि वह इसमें हस्तक्षेप नहीं करेगा। हालांकि सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा है कि वह इस मामले में विभिन्न पहलुओं पर सुनवाई करेगी.

भारत सरकार के हलफनामे में रोहिंग्या शरणार्थियों को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए कहा है कि ये भारत में नहीं रह सकते। सरकार को खुफिया जानकारी मिली है कि कुछ रोहिंग्या मुसलमान आतंकी संगठनों से प्रभावित हैं।

नई दिल्ली। देश में सांप्रदायिक राजनीति का मुद्दा बनते जा रहे रोहिंग्या मुसलमानों की ओर से सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दाखिल की गई याचिका पर आज सुनवाई होनी है। इस याचिका भारत सरकार के उस फैसले को चुनौती दी है जिसमें अप्रवासीय कानून का उल्लंघन कर आए रोहिंग्या मुसलमानों को भारत से वापस भेजने को कहा गया है।मिली जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच इस याचिका पर सुनवाई करेगी। जस्टिस जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ भी इस बेंच का हिस्सा रहेंगे।भारत सरकार इस मसले पर पहले ही अपना हलफनामा सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दाखिल कर चुकी है। जिसमें स्पष्ट रूप से कहा गया है कि यह फैसला कार्यपालिका का है सर्वोच्च न्यायालय से उम्मीद की जाती है कि वह इसमें हस्तक्षेप नहीं करेगा। हालांकि सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा है कि वह इस मामले में विभिन्न पहलुओं पर सुनवाई करेगी.भारत सरकार के हलफनामे में रोहिंग्या शरणार्थियों को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए कहा है कि ये भारत में नहीं रह सकते। सरकार को खुफिया जानकारी मिली है कि कुछ रोहिंग्या मुसलमान आतंकी संगठनों से प्रभावित हैं।