1. हिन्दी समाचार
  2. प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट का कड़ा रूख, अगर किसी ने नियम तोड़ा तो बख्शा नहीं जाएगा

प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट का कड़ा रूख, अगर किसी ने नियम तोड़ा तो बख्शा नहीं जाएगा

Supreme Courts Tough Stand On Pollution If Anyone Breaks The Rules Will Not Be Spared

नई दिल्ली। दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्रों में फैले वायु प्रदूषण की गंभीर समस्या को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कड़ा रूख अपनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने पराली मामले पर नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर अब किसी ने भी नियम तोड़ा तो उसको बख्शा नहीं जाएगा। आपको बता दें कि दिल्ली में फैले प्रदूषण को लेकर केजरीवाल सरकार ने इसके लिए पंजाब व हरियाणा में पराली जलाये जाने को जिम्मेदार ठहराया था।

पढ़ें :- कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री को लगा झटका, इस मशहूर अभिनेत्री का शव फंदे से लटका मिला

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस दीपक गुप्ता की विशेष पीठ ने आज प्रदूषण पर लंबित सभी मामलों की सुनवाई की। इस मौके पर दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिवों को तलब किया गया था। सुनवाई के दौरान जस्टिस मिश्रा ने कहा कि अगर कोई भी नियम व निर्देशों का उल्लंघन करता पाया गया, तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। वहीं सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार को अपनी ड्यूटी सही से न निभाने को लेकर जमकर फटकार भी लगाई है। कोर्ट नेे कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि अब कोई पराली न जले।

जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि सबको पता है कि पराली जलाई जा रही है इसके बावजूद पहले से कोई तैयारी नही की गयी। कोर्ट को लग रहा है कि सरकारों ने पूरे साल इसके बारे में कोई कदम नही उठाया है। वहीं इस मामले में राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने कहा कि हवा की गुणवत्ता केवल एक दिन में ही खराब नहीं हुई है। उसका कहना ह कि यह कानून को लागू करने में लगातार अनदेखी का नतीजा है। यही नही एनजीटी ने कचरा जलाने पर अंकुश लगाने के लिए प्राधिकरणों को ड्रोन का इस्तेमाल करने को कहा है। उनका कहना है कि खुले में कूड़ा जलाने से भी बहुत प्रभाव पड़ा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...