1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. सूरदास जयंती 2022: जानिए इस दिन की तारीख, समय, इतिहास और महत्व

सूरदास जयंती 2022: जानिए इस दिन की तारीख, समय, इतिहास और महत्व

सूरदास जयंती 2022: आज (6 मई) सूरदास जयंती मनाई जा रही है। यहां जानिए इस दिन का शुभ समय, इतिहास और महत्व।

भगवान श्रीकृष्ण का जितना सुंदर चित्रण संत सूरदास ने अपनी रचनाओं में किया है, उतना और कोई नहीं कर पाया। हिन्दी साहित्य में श्रीकृष्ण के उपासक और ब्रजभाषा के श्रेष्ठ कवि सूरदास हिंदी साहित्य के सूर्य माने जाते हैं। भगवान कृष्ण के प्रति अटूट विश्वास के चलते ही उन्हें भक्त कवि सूरदास भी कहा जाता है। इस साल संत सूरदास की 544 वीं जयंती मनाई जाएगी। ये उत्सव मुख्य रूप से देश के उत्तरी भाग में मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा की जाती है और संत सूरदास के सम्मान में उपवास आदि भी किया जाता है। इस दिन कई वृंदावन, मथुरा आदि स्थानों पर काव्य गोष्ठियां भी आयोजित की जाती हैं

पढ़ें :- Swapna Shastra : सपने में शव और सुंदर स्त्री देखने का ये है संकेत, स्वप्नलोक के बारे में जानिए

सूरदास जयंती 2022 तारीख और समय

पंचमी तिथि 05 मई, 2022 को सुबह 10:00 बजे शुरू हुई और 06 मई 2022 को दोपहर 12:32 बजे समाप्त हुई।

सूरदास जयंती 2022 जीवन और महत्व

संत सूरदास का जन्म एक अंधे बच्चे के रूप में हुआ था, जिसके कारण उनके परिवार ने उनकी उपेक्षा की और उस पर पर्याप्त ध्यान नहीं दिया। इसी के चलते उन्होंने शुरुआती दौर में ही अपने घर को अलविदा कह दिया। बाद में उन्होंने खुद को भगवान कृष्ण को समर्पित कर दिया और बहुत कम उम्र में उनकी स्तुति करने लगे। ऐसा माना जाता है कि सूरदास के संगीत और कविता को कई ख्याति प्राप्त लोग प्रिय थे।

पढ़ें :- Aaj Ka Rashifal 27 January 2023 : मिथुन राशि को आज अचानक धन मिलेगा, जानिए अपनी राशि के बारें में

सूरदास अपने जीवन के अंतिम दिनों में ब्रज में रहते थे, और उनकी रोटी-मक्खन उस दान से चलती थी जो उन्हें भजन गाने और धार्मिक विषयों पर बात करने के लिए मिलता था।

संत सूरदास ने हजारों से अधिक गीत लिखे और रचे हैं, जिनमें से केवल 8,000 ही अस्तित्व में हैं।

ऐसा माना जाता है कि सूरदास की कविता और संगीत मुगल बादशाह अकबर को बहुत प्रिय थे। उत्तर भारत में संत सूरदास की जयंती मनाई जाती है। इस दिन भगवान कृष्ण के भक्त उपवास रखते हैं और संत सूरदास की पूजा भी करते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...