महज इस वजह से रैना और मिश्रा के लिए टीम में वापसी कर पाना हुआ टेढ़ी खीर

नई दिल्ली। टीम इंडिया जहां एक ओर शानदार प्रदर्शन कर रही है वहीं टीम से बाहर चल रहें खिलाड़ियों की परेशानी बढ़ सी गयी है। दरअसल इन दिनों टीम में खिलाड़ियों का चयन यो-यो फिटनेस टेस्ट के आधार पर किया जा रहा है जो पूर्ण रूप से आधुनिक है जिसे पास कर पाना खिलाड़ियों लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। इसी कड़ी में टीम से बाहर चल रहे बाएं हाथ के बल्लेबाज़ सुरेश रैना और लेग स्पिनर अमित मिश्रा इस फिटनेस टेस्ट में फेल हो गए।

राष्ट्रीय टीम में चयन के लिए दोनों खिलाड़ियों को एक बार फिर से फिटनेस टेस्ट से हो सकता है जहां दोनों की किस्मत एक बार फिर दांव होगी। वहीं तमिलनाडु के ऑल-राउंडर वॉशिंगटन सुंदर फिटनेस की समस्या से जूझ रहे हैं। उनकी फिटनेस को लेकर भी टेस्ट में कुछ संदिग्ध स्थिति बनी हुई है।

{ यह भी पढ़ें:- विराट का खुलासा: इस गेंदबाज को सामने देख होती है घबराहट }

मिश्रा और सुरेश रैना दोनों ही टीम इंडिया से अपने फॉर्म और फिटनेस की वजह से बाहर हैं। नैशनल टीम का फिटनेस को लेकर पिछले कुछ सालों से स्तर उठा हुआ है। अब इस बात पर भी ध्यान दिया जाता है कि बेंच स्ट्रेंथ में भी उन भारतीय खिलाड़ियों को शामिल किया जाए जिनकी फिटनेस उच्च स्तर की हो।

ख़बर के मुताबिक चयनकर्ता तैयार थे कि न्यूज़ीलैंड ‘ए’ के खिलाफ होने वाले मुकाबलों के लिए सुरेश रैना और अमित मिश्रा को इंडिया ‘ए’ में शामिल किया जाए। हालांकि, दोनों फिटनेस टेस्ट में फेल हो गए जबकि राष्ट्रीय क्रिकेट एकेडमी (एनसीए) के कोचिंग स्टाफ की निगरानी में दोनों ने फिटनेस पर ज़ोर दिया था।

{ यह भी पढ़ें:- एशिया कप: भारत के पास पाकिस्तान को धूल चटाने का सुनहरा मौका }

आपको बता दें कि श्रीलंका दौरे से पहले भी सुरेश रैना और युवराज सिंह दोनों फिटनेस टेस्ट में फेल हो गए थे जिसके कारण चयनकर्ताओं ने युवा खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया था।