कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को सराहा

नई दिल्ली: कांग्रेस, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, जनता दल-यू, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, समाजवादी पार्टी सहित विपक्षी दलों ने गुरुवार को नरेंद्र मोदी सरकार और भारतीय सेना द्वारा नियंत्रण रेखा के उस पार किए गए ‘सर्जिकल अटैक’ का पुरजोर समर्थन किया। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि हमें भारतीय सेना पर गर्व है। पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर भारत का हिस्सा है। यह एक अच्छा अभियान था और भारतीय सेना की इस कार्रवाई से कोई कूटनीतिक जटिलता नहीं होगी।




बैठक में माकपा नेता सीताराम येचुरी, जदयू के शरद यादव और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने भी सरकार की इस कार्रवाई का समर्थन किया। देश के पूर्व रक्षा मंत्री रहे पवार ने सेना की भूमिका और किए गए सतर्क अभियान का विशेष उल्लेख किया। शरद यादव ने कहा कि सेना को बधाई दी जानी चाहिए क्योंकि आधी रात के बाद दुर्गम इलाके में इस तरह की छापेमारी देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने के सैनिकों के संकल्प और इच्छा को दर्शाती है।

मोदी सरकार के कट्टर आलोचक शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी सेना की इस कार्रवाई की सराहना की है और इसके लिए मोदी सरकार की प्रशंसा की है। सर्वदलीय बैठक में राजनाथ सिंह, महानिदेशक मिल्रिटी ऑपरेशन्स (डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने विपक्ष के नेताओं को हमले की जानकारी दी लेकिन अभियान का विस्तृत ब्यौरा नहीं दिया। गृह मंत्री ने पंजाब जैसे प्रमुख राज्यों में आंतरिक सुरक्षा की कार्ययोजना की जानकारी दी और यह भी कहा कि सरकार पाकिस्तान की संभावित प्रतिक्रिया पर नजर रख रहा है।




बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली, खाद्य मंत्री राम विलास पासवान, सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद थीं। महानिदेशक मिल्रिटी ऑपरेशन्स (डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने सर्वदलीय बैठक में कहा कि भारतीय सेना ने नियत्रंण रेखा पर आतंकवादियों के ठिकानों पर सर्जिकल अटैक कर भारी क्षति पहुंचाई है। उन्होंने कहा कि यह हमला आधी रात के बाद शुरू हुआ और सुबह लगभग 4.30 बजे समाप्त हो गया। करीब चार घंटे चला।

सूत्रों के अनुसार हेलीकाप्टर से सैनिकों को उतार कर इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया। 36-38 आतंकी हताहत हुए हैं। इससे पहले सुषमा स्वराज ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की जिनकी तबीयत ठीक नहीं चल रही है। सोनिया गांधी ने ट्वीट कर कहा कि आतंकी ठिकानों पर सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर कड़ा संदेश दे दिया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कार्रवाई के लिए सेना व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इस स्ट्राइक ने आज एक नए भारत के उठने का संकेत दे दिया है जो आतंकियों की कुत्सित चालों के आगे झुकेगा नहीं।