शेखर सुमन पर नाराज हुए सुशांत सिंह के पिता, कहा- राजनीतिक लाभ ना…

SEKAR ]

पटना : सुशांत की अचानक मौत का झटका हर किसी के जहन मे आज भी है किया लोग इस झटके के सदमे से अब भी बाहर नहीं आ रहे, और हर कोई बस ये सोच रहा है कि आखिर सुशांत ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया? साथ ही साथ हर कोई सुशांत को इंसाफ दिलाने मे लगा हुआ है।

Sushant Singhs Father Gets Angry At Shekhar Suman Said Political Benefits :

कई बड़े स्टार सुशांत को न्याय दिलाने के लिए कई तरह के प्रयास कर रहें हैं, जिसमे शेखर सुमन के कई इंटरव्यू भी सामने आए हैं। दरअसल पूरी बात ये है की शेखर सुमन बीते दिन सुशांत के परिवार से मिलने पटना पहुंचे। जिसके बाद उन्होने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसकी वजह से सुशांत की फैमली ने काफी नाराज जताई है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद हुए आरजेडी में शामिल

शेखर सुमन सुशांत के घर उनके दोस्त संदीप सिंह के साथ पहुंचे थे। दोनों ने सुशांत के पिता और बहनों से मुलाकात कर उनका दुख बांटा। इतना ही नहीं मुलाकात के कुछ घंटो बाद ही शेखर सुमन ने आरजेडी के लीडर और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के साथ उनके घर पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया।

इस कॉन्फ्रेंस में सुशांत का पोस्टर भी इस्तेमाल किया गया था। वहीं खबर ये भी है कि शेखर सुमन जो कांग्रेस के लिए चुनाव में खड़े हो चुके हैं वो प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद आरजेडी में शामिल भी हुए। जिससे कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

परिवार ने जताई नाराजगी

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सुशांत के परिवार से बयान सामने आया है जिसमें कहा गया है, ‘सब जांच के दायरे में है और एक पॉलिटिकल बैनर के नीचे खड़े होकर बयान देना राजनीतिक लाभ के लिए है। परिवार इस बारे में मांग करने के लिए और पुलिस इन्वेस्टिगेशन के लिए सक्षम है।

उन्होने कहा किसी भी तरह की राजनीति और हस्तक्षेप की जरुरत नहीं है। परिवार में पहले ही राजनेता हैं जो इसे आगे ले जा सकते हैं। परिवार के किसी सदस्य को इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बारे में जानकारी नहीं दी गई थी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस मे किया खुलासा

शेखर सुमन ने खुलासा करते हुआ कहा तेजस्वी यादव के घर में हुई कॉन्फ्रेंस में बताया कि सुशांत सिंह राजपूत 50 सिम कार्ड बदल चुके हैं जिसका कारण उन्हें मिलने वाले धमकी भरे कॉल्स थे। साथ ही इस केस के लिए फिर एक बार शेखर ने सीबीआई जांच की मांग की।

 

 

पटना : सुशांत की अचानक मौत का झटका हर किसी के जहन मे आज भी है किया लोग इस झटके के सदमे से अब भी बाहर नहीं आ रहे, और हर कोई बस ये सोच रहा है कि आखिर सुशांत ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया? साथ ही साथ हर कोई सुशांत को इंसाफ दिलाने मे लगा हुआ है। कई बड़े स्टार सुशांत को न्याय दिलाने के लिए कई तरह के प्रयास कर रहें हैं, जिसमे शेखर सुमन के कई इंटरव्यू भी सामने आए हैं। दरअसल पूरी बात ये है की शेखर सुमन बीते दिन सुशांत के परिवार से मिलने पटना पहुंचे। जिसके बाद उन्होने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसकी वजह से सुशांत की फैमली ने काफी नाराज जताई है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद हुए आरजेडी में शामिल

शेखर सुमन सुशांत के घर उनके दोस्त संदीप सिंह के साथ पहुंचे थे। दोनों ने सुशांत के पिता और बहनों से मुलाकात कर उनका दुख बांटा। इतना ही नहीं मुलाकात के कुछ घंटो बाद ही शेखर सुमन ने आरजेडी के लीडर और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के साथ उनके घर पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया।

https://twitter.com/shekharsuman7/status/1277622921062744066?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1277622921062744066%7Ctwgr%5E&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.bhaskar.com%2Fentertainment%2Fbollywood%2Fnews%2Fsushnat-singhs-father-accused-shekhar-suman-and-sandeep-singh-of-using-sushants-death-for-political-mileage-127466168.html

इस कॉन्फ्रेंस में सुशांत का पोस्टर भी इस्तेमाल किया गया था। वहीं खबर ये भी है कि शेखर सुमन जो कांग्रेस के लिए चुनाव में खड़े हो चुके हैं वो प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद आरजेडी में शामिल भी हुए। जिससे कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

परिवार ने जताई नाराजगी

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सुशांत के परिवार से बयान सामने आया है जिसमें कहा गया है, 'सब जांच के दायरे में है और एक पॉलिटिकल बैनर के नीचे खड़े होकर बयान देना राजनीतिक लाभ के लिए है। परिवार इस बारे में मांग करने के लिए और पुलिस इन्वेस्टिगेशन के लिए सक्षम है।

उन्होने कहा किसी भी तरह की राजनीति और हस्तक्षेप की जरुरत नहीं है। परिवार में पहले ही राजनेता हैं जो इसे आगे ले जा सकते हैं। परिवार के किसी सदस्य को इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बारे में जानकारी नहीं दी गई थी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस मे किया खुलासा

शेखर सुमन ने खुलासा करते हुआ कहा तेजस्वी यादव के घर में हुई कॉन्फ्रेंस में बताया कि सुशांत सिंह राजपूत 50 सिम कार्ड बदल चुके हैं जिसका कारण उन्हें मिलने वाले धमकी भरे कॉल्स थे। साथ ही इस केस के लिए फिर एक बार शेखर ने सीबीआई जांच की मांग की।