सुषमा को याद कर भावुक हुए आडवाणी, कहा- ‘कभी नहीं भूलती थीं जन्मदिन पर केक लाना’

sushma swaraj
सुषमा को याद कर भावुक हुए आडवाणी, कहा- 'कभी नहीं भूलती थीं जन्मदिन पर केक लाना'

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने भावुक श्रद्धांजलि दी। उन्होंने सुषमा के साथ अपने निजी रिश्ते को याद करते हुए हुए भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि सुषमा मेरी करीबी सहयोगी थीं। आडवाणी ने उन्हें शानदार इंसान और बेहतरीन वक्ता बताया।

Sushma Swaraj Death Lk Advani And His Daughter Pratibha Advani Break Down As They Meet Basuri :

आडवाणी ने उन्हें याद करते हुए बताया कि एक भी ऐसा साल नहीं रहा, जब वह उनके जन्मदिन पर उनका पसंदीदा चॉकलेट केक लाना भूली हो। लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि जब 1980 के दशक में मैं पार्टी अध्यक्ष हुआ करता था उस समय सुषमा स्वराज युवा कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी से जुड़ीं। उन्होंने बताया कि मैंने सुषमा को अपनी टीम में शामिल किया था।

वक्त गुजरता गया और वो पार्टी संगठन में लोकप्रिय नेता बन गईं। लालकृष्ण आडवाणी ने सुषमा को तमाम महिलाओं के लिए रोल मॉडल बताया। पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने सुषमा स्वराज की भाषण शैली और वाक्पटुता का भी उल्लेख किया और उन्हें बेहतरीन वक्ता बताया।

उन्होंने कहा कि सुषमा का निधन अपूरणीय क्षति है। इस समय मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ है।

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने भावुक श्रद्धांजलि दी। उन्होंने सुषमा के साथ अपने निजी रिश्ते को याद करते हुए हुए भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि सुषमा मेरी करीबी सहयोगी थीं। आडवाणी ने उन्हें शानदार इंसान और बेहतरीन वक्ता बताया। आडवाणी ने उन्हें याद करते हुए बताया कि एक भी ऐसा साल नहीं रहा, जब वह उनके जन्मदिन पर उनका पसंदीदा चॉकलेट केक लाना भूली हो। लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि जब 1980 के दशक में मैं पार्टी अध्यक्ष हुआ करता था उस समय सुषमा स्वराज युवा कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी से जुड़ीं। उन्होंने बताया कि मैंने सुषमा को अपनी टीम में शामिल किया था। वक्त गुजरता गया और वो पार्टी संगठन में लोकप्रिय नेता बन गईं। लालकृष्ण आडवाणी ने सुषमा को तमाम महिलाओं के लिए रोल मॉडल बताया। पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने सुषमा स्वराज की भाषण शैली और वाक्पटुता का भी उल्लेख किया और उन्हें बेहतरीन वक्ता बताया। उन्होंने कहा कि सुषमा का निधन अपूरणीय क्षति है। इस समय मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ है।