भाजपा विधायक की गलत बयानी, डासना टोल प्लाजा पर होती है अवैध वसूली

dasna-toll-plaza

Suspicious Collection Agent Fleeing Dasna Toll After Seeing Mla

गाजियाबाद। यहां के डासना टोल प्लाजा पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री व बरौली अलीगढ़ के भाजपा विधायक दलवीर सिंह ने टोल कर्मियों को कड़ी फटकार लगा दी। उन्होने मामले की शिकायत डीएम रितु माहेश्वरी से की है। डीएम ने मामले के जांच के आदेश दिये हैं। वहीं इस मामले पर प्रोजेक्ट डायरेक्टर एनएचएआई ने इस आरोप को सिरे से नकारते हुए विधायक के खिलाफ एफ़आईआर कराने की बात कही है।

विधायक दलवीर सिंह का आरोप है टोल पर वाहनों से अवैध वसूली की जा रही थी। अपना परिचय देने के बाद वसूली कर रहे संदिग्ध लोग गायब हो गए। आधा घंटे तक टोल पर किसी वाहन से कोई शुल्क नहीं वसूला गया। उसके बाद विधायक ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी से की।

विधायक दलवीर सिंह के मुताबिक उन्हें सूचनाएं मिली थी कि डासना टोल का कांट्रैक्ट समाप्त हो गया है। यहां अवैध रूप से वसूली की जाती है। वह रविवार को हापुड़ से गाजियाबाद की ओर आ रहे थे। टोल पर लंबी लाइन थी। वह खुद गाड़ी से उतरकर टोल पर पहुंचे और वहां मौजूद कर्मचारियों से कहा कि यह लाइन क्यों है। जब उन्होंने अपना परिचय दिया तो वहां वसूली कर रहे लोग गायब हो गए।

इस दौरान जो भी वाहन टोल से गुजरे उनसे किसी ने कोई पैसा नहीं लिया। यह घटना दोपहर करीब डेढ़ बजे की है। आधा घंटे खड़े रहने के बाद विधायक अपनी गाड़ी में बैठकर आगे बढ़ गए। विधायक का कहना है, ‘लंबी लाइन देख मैं टोल पर उतरा था। जब मैंने वहां मौजूद टैक्स वसूलने वालों से कहा कि यहां अवैध वसूली की शिकायत मिलती है। इसका ठेका भी समाप्त हो गया है तो मौके से सभी लोग गायब हो गए।’

ये है एनएचएआई का बयान

एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आरपी सिंह का कहना है, टोल पूरी तरह से वैध है। इसी माह आठ अक्तूबर को इसका ठेका आगरा की एक कंपनी को एक साल के लिए दिया गया। इससे पूर्व भी यह वैध रूप से चल रहा है। विधायक ने टोल पर आकर वाहनों को फ्री गुजरने दिया। यह सरकारी राजस्व का मामला है। इसमे बाधा उत्पन्न करने वाले विधायक के खिलाफ एफआईआर कराई जाएगी।

गाजियाबाद। यहां के डासना टोल प्लाजा पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री व बरौली अलीगढ़ के भाजपा विधायक दलवीर सिंह ने टोल कर्मियों को कड़ी फटकार लगा दी। उन्होने मामले की शिकायत डीएम रितु माहेश्वरी से की है। डीएम ने मामले के जांच के आदेश दिये हैं। वहीं इस मामले पर प्रोजेक्ट डायरेक्टर एनएचएआई ने इस आरोप को सिरे से नकारते हुए विधायक के खिलाफ एफ़आईआर कराने की बात कही है। विधायक दलवीर सिंह का आरोप है…