1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Swachh Bharat Mission-Urban 2.0: पीएम मोदी बोले-बाबा साहेब के सपनों को पूरा करने की दिशा में अहम कदम

Swachh Bharat Mission-Urban 2.0: पीएम मोदी बोले-बाबा साहेब के सपनों को पूरा करने की दिशा में अहम कदम

Swachh Bharat Mission-Urban 2.0: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Pm Narendra Modi) ने शुक्रवार ‘स्वच्छ भारत मिशन-अर्बन 2.0’ का आगाज किया। पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि, 2014 में देशवासियों ने भारत को खुले में शौच से मुक्त करने का- ODF बनाने का संकल्प लिया था। 10 करोड़ से ज्यादा शौचालयों के निर्माण के साथ देशवासियों ने ये संकल्प पूरा किया।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Swachh Bharat Mission-Urban 2.0: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Pm Narendra Modi) ने शुक्रवार ‘स्वच्छ भारत मिशन-अर्बन 2.0’ का आगाज किया। पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि, 2014 में देशवासियों ने भारत को खुले में शौच से मुक्त करने का- ODF बनाने का संकल्प लिया था। 10 करोड़ से ज्यादा शौचालयों के निर्माण के साथ देशवासियों ने ये संकल्प पूरा किया।

पढ़ें :- Gujarat News: नमक फैक्टरी की दीवार गिरने से चपेट में आए 12 श्रमिकों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

वहीं, अब ‘स्वच्छ भारत मिशन-अर्बन 2.0’ (Swachh Bharat Mission-Urban 2.0) का लक्ष्य है Garbage-Free शहर, कचरे के ढेर से पूरी तरह मुक्त शहर बनाना है। उन्होंने कहा कि, ‘सीवेज और सेप्टिक मैनेजमेंट बढ़ाना, अपने शहरों को Water secure cities’ बनाना और ये सुनिश्चित करना कि हमारी नदियों में कहीं पर भी कोई गंदा नाला न गिरे।

PM ने कहा कि, स्वच्छ भारत अभियान और अमृत मिशन की अब तक की यात्रा वाकई हर देशवासी को गर्व से भर देने वाली है। इसमें मिशन भी है, मान भी है, मर्यादा भी है, एक देश की महत्वाकांक्षा भी है और मातृभूमि के लिए अप्रतिम प्रेम भी है। पीएम ने कहा कि, बाबा साहेब, असमानता दूर करने का बहुत बड़ा माध्यम शहरी विकास को मानते थे।

बेहतर जीवन की आकांक्षा में गांवों से बहुत से लोग शहरों की तरफ आते हैं। हम जानते हैं कि उन्हें रोजगार तो मिल जाता है लेकिन उनका जीवन स्तर गांवों से भी मुश्किल स्थिति में रहता है। पीएम ने कहा कि, ये उन पर एक तरह से दोहरी मार की तरह होता है। एक तो घर से दूर, और ऊपर से ऐसी स्थिति में रहना। इस हालात को बदलने पर, इस असमानता को दूर करने पर बाबा साहेब का बड़ा जोर था।

स्वच्छ भारत मिशन और मिशन अमृत का अगला चरण, बाबा साहेब के सपनों को पूरा करने की दिशा में भी एक अहम कदम है। उन्होंने कहा कि, मैं इस बात से बहुत खुश होता हूं कि स्वच्छता अभियान को मजबूती देने का बीड़ा हमारी आज की पीढ़ी ने उठाया हुआ है। टॉफी के रैपर अब जमीन पर नहीं फेंके जाते, बल्कि पॉकेट में रखे जाते हैं।छोटे-छोटे बच्चे, अब बड़ों को टोकते हैं कि गंदगी मत करिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...