21 की रैली में माया के भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ करेंगे हाथी से कमल पर बैठे स्वामी

लखनऊ: हाथी से कमल पर बैठे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य रविवार को यहां लखनऊ में बसपा मुखिया मायावती पर जमकर बरसे। वर्षो तक मायावती का साथ निभाने वाले मौर्य की रणनीति और अंदाज अब यही बयां कर रहे हैं कि वह उन्हें उप्र में पूरी तरह से उखाड़ फेंकना चाहते हैं। मौर्य ने यहां तक कह दिया है कि वह 21 सितम्बर को बहुजन लोकतांत्रिक मंच के बैनर तले अपने नेतृत्व में लखनऊ में आयोजित रैली में माया के भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ करेंगे।




लखनऊ में आयोजित प्रेसवार्ता में भाजपा नेता मौर्य ने कहा कि पूंजीपतियों के दम पर रैली करने वाली माया को बुधवार को रमाबाई अंबेडकर मैदान में आयोजित परिवर्तन रैली में फकीर की रैली की ताकत का एहसास हो जाएगा। मौर्य ने बसपा प्रमुख पर अंबेडकर और कांसीराम के मिशन को चैराहे पर नीलाम करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि दलित स्वाभिमान का माया ने पूंजीपतियों के हाथ सौदा किया।

मौर्य ने कहा कि मायावती ने 21 तक यदि भ्रष्टाचार पर श्वेतपत्र जारी नहीं किया तो रैली के मंच से मैं उनके भ्रष्टाचार का भांडा फोड़ूंगा। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार बनी तो माया के भ्रष्टाचार के मामलों की जांच होगी। उन्होंने कहा कि यह रैली मायावती का बचा खुचा जनाधार भी ध्वस्त कर देगी। बसपा के हजारों कार्यकर्ता भाजपा में शामिल होंगे।

मौर्य ने कहा कि उप्र की राजनीति को माया का चारागाह नहीं बनने दूंगा। 2017 के चुनाव में माया का बोरिया बिस्तर बांध कर दिल्ली भेज कर ही दम लूंगा। उन्हांेने बताया कि उनकी रैली में 5 लाख की भीड़ जुटेगी। रैली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ ओम माथुर और केशव प्रसाद मौर्य भी शामिल होंगे।