स्वरूपानंद ने मोदी पर बोला हमला, कहा- राम मंदिर के मुद्दे पर जनता को मूर्ख बना रही सरकार

sant
स्वरूपानंद ने मोदी पर बोला हमला, कहा- राम मंदिर के मुद्दे पर जनता को मूर्ख बना रही है सरकार

नई दिल्ली। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज ने मोदी सरकार के कामकाज को लेकर टिप्पणी की है। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि केंद्र सरकार राम मंदिरके मुद्दे पर जनता को मूर्ख बना रही है। स्वरूपानंद सरस्वती ने मंगलवार को आरोप लगाया केंद्र सरकार ने राम जन्मभूमि के बजाय कहीं और मंदिर बनाने का फैसला कर लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर मोदी वादे पूरे नहीं कर पाते हैं तो उनके नाम का कोई मतलब नहीं रह जाएगा।

Swami Swaroopanand Allegations Ram Temple Central Government Making People Fooled :

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने हरिद्वार में पत्रकारों से कहा, ‘केंद्र ने यह कहते हुए सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया कि वह अयोध्या में विवादित भूमि के आसपास अधिग्रहीत की गई 67 एकड़ भूमि मूल मालिकों को लौटा देगी। यहां तक कि उसने अयोध्या में राम के जन्म वाले असली स्थान के बजाय कहीं और राम मंदिर बनाने का मन बना लिया है।’

जम्मू कश्मीर पर महंत ने कहा, अगर अनुच्छेद 370 हट जाता है और राज्य से बाहर निकाल दिये गये कश्मीरी पंडित वहां फिर से बस जाते हैं तो राज्य में निश्चित तौर पर शांति लौटेगी। मैं आशावादी हूं और जो भी यह करेगा उसे हमारा पूरा सहयोग मिलेगा। हमारी किसी से कोई रंजिश नहीं है।

शंकराचार्य ने कहा, मोदी का मतलब है कि ऐसा व्यक्ति जो गोमांस का निर्यात रोकेगा, आतंकवाद खत्म करेगा, महंगाई पर लगाम लगायेगा, अनुच्छेद 370 रद्द करेगा और समान नागरिक संहिता लागू करेगा. अगर वह यह सब करने में नाकाम रहते हैं तो मोदी नाम का कोई मतलब नहीं रह जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि साई बाबा की बढ़ती लोकप्रियता हिंदू धर्म को खत्म करने की पूर्व नियोजित साजिश है।

नई दिल्ली। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज ने मोदी सरकार के कामकाज को लेकर टिप्पणी की है। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि केंद्र सरकार राम मंदिरके मुद्दे पर जनता को मूर्ख बना रही है। स्वरूपानंद सरस्वती ने मंगलवार को आरोप लगाया केंद्र सरकार ने राम जन्मभूमि के बजाय कहीं और मंदिर बनाने का फैसला कर लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर मोदी वादे पूरे नहीं कर पाते हैं तो उनके नाम का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने हरिद्वार में पत्रकारों से कहा, ‘केंद्र ने यह कहते हुए सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया कि वह अयोध्या में विवादित भूमि के आसपास अधिग्रहीत की गई 67 एकड़ भूमि मूल मालिकों को लौटा देगी। यहां तक कि उसने अयोध्या में राम के जन्म वाले असली स्थान के बजाय कहीं और राम मंदिर बनाने का मन बना लिया है।’ जम्मू कश्मीर पर महंत ने कहा, अगर अनुच्छेद 370 हट जाता है और राज्य से बाहर निकाल दिये गये कश्मीरी पंडित वहां फिर से बस जाते हैं तो राज्य में निश्चित तौर पर शांति लौटेगी। मैं आशावादी हूं और जो भी यह करेगा उसे हमारा पूरा सहयोग मिलेगा। हमारी किसी से कोई रंजिश नहीं है। शंकराचार्य ने कहा, मोदी का मतलब है कि ऐसा व्यक्ति जो गोमांस का निर्यात रोकेगा, आतंकवाद खत्म करेगा, महंगाई पर लगाम लगायेगा, अनुच्छेद 370 रद्द करेगा और समान नागरिक संहिता लागू करेगा. अगर वह यह सब करने में नाकाम रहते हैं तो मोदी नाम का कोई मतलब नहीं रह जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि साई बाबा की बढ़ती लोकप्रियता हिंदू धर्म को खत्म करने की पूर्व नियोजित साजिश है।