Swami Vivekananda Death Anniversary: पढ़ें विवेकानंद के जीवन सफल बना देने वाले प्रेरक विचार

Swami Vivekananda Death Anniversary: पढ़ें विवेकानंद के जीवन सफल बना देने वाले प्रेरक विचार
Swami Vivekananda Death Anniversary: पढ़ें विवेकानंद के जीवन सफल बना देने वाले प्रेरक विचार

लखनऊ। आज स्वांमी विवेकानंद (Swami Vivekananda) की पुण्यतिथि है। स्वामी विवेकानंद ने न सिर्फ भारत के उत्थान के लिए काम किया बल्किं लोगों को जीवन जीने की कला भी सिखाई। स्वा्मी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता में हुआ था जबकी 39 वर्ष की उम्र में 4 जुलाई 1902 को उनका निधन हो गया था। उनका जीवन बड़ा ही संघर्षमयी था, मात्र 25 साल की उम्र में अपने गुरु से प्रेरित होकर उन्हों ने सांसारिक मोह-माया त्या्ग दी और संन्यानसी बन गए। आज हम आपको स्वामी विवेकानंद के ऐसे प्रेरक विचारों के बारे में बताएँगे जिसे अपनाकर आप अपना जीवन सफल बना सकते हैं। स्वामी जी के विचार से किसी भी व्यक्ति की निराशा दूर हो उसमें आशा की एक नई किरण आ सकती है।

Swami Vivekananda Death Anniversary %e0%a4%aa%e0%a5%9d%e0%a5%87%e0%a4%82 %e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b5%e0%a5%87%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a6 %e0%a4%95%e0%a5%87 %e0%a4%9c%e0%a5%80 :

स्वामी विवेकानंद जी के प्रेरक और अनमोल विचार…

  • उठो और जागो और तब तक रुको नहीं जब तक कि तुम अपना लक्ष्य प्राप्त नहीं कर लेते।
  • आप जो भी सोचेंगे, आप वही हो जाएंगे। अगर आप खुद को कमजोर सोचेंगे तो आप कमजोर बन जाएंगे। अगर आप सोचेंगे की आप शक्तिशाली हैं तो आप शाक्तिशाली बन जाएंगे।
  • एक विचार चुनिए और उस विचार को अपना जीवन बना लिजिए। उस विचार के बारे में सोचें उस विचार के सपने देखें। अपने दिमाग, अपने शरीर के हर अंग को उस विचार से भर लें बाकी सारे विचार छोड़ दें। यही सफलता का रास्ता हैं।
  • एक नायक की तरह जिएं। हमेशा कहें मुझे कोई डर नहीं, सबको यही कहें कोई डर नहीं रखो।
  • अगर आप पौराणिक देवताओं में यकीन करते हैं और खुद पर यकीन नहीं करते हैं तो आपको मुक्ति नहीं मिल सकती है। अपने में विश्वास रखो और ताकत ही जीवन है और कमजोरी मौत है।
  • ब्रह्मांड की सारी शक्तियां पहले से ही हमारे भीतर मौजूद हैं। हम ही मूर्खतापूर्ण आचरण करते हैं, जो अपने हाथों से अपनी आंखों को ढक लेते हैं…और फिर चिल्लाते हैं कि चारों तरफ अंधेरा है, कुछ नजर नहीं आ रहा है।
लखनऊ। आज स्वांमी विवेकानंद (Swami Vivekananda) की पुण्यतिथि है। स्वामी विवेकानंद ने न सिर्फ भारत के उत्थान के लिए काम किया बल्किं लोगों को जीवन जीने की कला भी सिखाई। स्वा्मी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता में हुआ था जबकी 39 वर्ष की उम्र में 4 जुलाई 1902 को उनका निधन हो गया था। उनका जीवन बड़ा ही संघर्षमयी था, मात्र 25 साल की उम्र में अपने गुरु से प्रेरित होकर उन्हों ने सांसारिक मोह-माया त्या्ग दी और संन्यानसी बन गए। आज हम आपको स्वामी विवेकानंद के ऐसे प्रेरक विचारों के बारे में बताएँगे जिसे अपनाकर आप अपना जीवन सफल बना सकते हैं। स्वामी जी के विचार से किसी भी व्यक्ति की निराशा दूर हो उसमें आशा की एक नई किरण आ सकती है। स्वामी विवेकानंद जी के प्रेरक और अनमोल विचार...
  • उठो और जागो और तब तक रुको नहीं जब तक कि तुम अपना लक्ष्य प्राप्त नहीं कर लेते।
  • आप जो भी सोचेंगे, आप वही हो जाएंगे। अगर आप खुद को कमजोर सोचेंगे तो आप कमजोर बन जाएंगे। अगर आप सोचेंगे की आप शक्तिशाली हैं तो आप शाक्तिशाली बन जाएंगे।
  • एक विचार चुनिए और उस विचार को अपना जीवन बना लिजिए। उस विचार के बारे में सोचें उस विचार के सपने देखें। अपने दिमाग, अपने शरीर के हर अंग को उस विचार से भर लें बाकी सारे विचार छोड़ दें। यही सफलता का रास्ता हैं।
  • एक नायक की तरह जिएं। हमेशा कहें मुझे कोई डर नहीं, सबको यही कहें कोई डर नहीं रखो।
  • अगर आप पौराणिक देवताओं में यकीन करते हैं और खुद पर यकीन नहीं करते हैं तो आपको मुक्ति नहीं मिल सकती है। अपने में विश्वास रखो और ताकत ही जीवन है और कमजोरी मौत है।
  • ब्रह्मांड की सारी शक्तियां पहले से ही हमारे भीतर मौजूद हैं। हम ही मूर्खतापूर्ण आचरण करते हैं, जो अपने हाथों से अपनी आंखों को ढक लेते हैं…और फिर चिल्लाते हैं कि चारों तरफ अंधेरा है, कुछ नजर नहीं आ रहा है।