1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. मधुमक्खियों के झुंड ने लुप्तप्राय पेंगुइन पर बोला हमला, 63 की हो गई मौत

मधुमक्खियों के झुंड ने लुप्तप्राय पेंगुइन पर बोला हमला, 63 की हो गई मौत

केप टाउन के बाहर एक समुद्र तट पर मधुमक्खियों के झुंड ने लुप्तप्राय पेंगुइन पर हमला बोल दिया। मधुमक्खियों के हमले में लुप्तप्राय पेंगुइन की मौत हो गई।

By अनूप कुमार 
Updated Date

पोर्ट एलिज़ाबेथ: केप टाउन के बाहर एक समुद्र तट पर मधुमक्खियों के झुंड ने लुप्तप्राय पेंगुइन पर हमला बोल दिया। मधुमक्खियों के हमले में लुप्तप्राय पेंगुइन की मौत हो गई। खबरों के अनुसार, दक्षिण अफ्रीकी (South African) फाउंडेशन फॉर द कंजर्वेशन ऑफ कोस्टल बर्ड्स ने रविवार को कहा कि मधुमक्खियों (Honeybee) के झुंड ने केप टाउन के बाहर एक समुद्र तट पर 63 लुप्तप्राय अफ्रीकी पेंगुइन (African Penguin) को मार डाला है। फाउंडेशन के एक ​​पशु चिकित्सक डेविड रॉबर्ट्स ने कहा, “परीक्षण के बाद, हमें पेंगुइन की आंखों के आसपास मधुमक्खी के डंक मिले। यह एक बहुत ही दुर्लभ घटना है। हम इसे अक्सर होने की उम्मीद नहीं करते हैं, यह एक अस्थायी घटना है।”

पढ़ें :- Afghanistan : अफगान लड़कियों को माध्यमिक स्कूलों में पढ़ने की मिलेगी इजाजत, शिक्षा से वंचित नहीं रहेंगी

खबरों के अनुसार, “मौके पर मृत मधुमक्खियां भी मिली थीं.” शुक्रवार को मृत पाए गए संरक्षित पक्षी केप टाउन के पास एक छोटे से शहर सिमोंस्टाउन की एक कॉलोनी के थे। यह क्षेत्र एक राष्ट्रीय उद्यान है और केप मधुमक्खियां पारिस्थितिकी तंत्र का हिस्सा हैं।

रॉबर्ट्स ने कहा, “पेंगुइन… को वैसे ही नहीं मरना चाहिए क्योंकि वे पहले से ही विलुप्त होने के खतरे में हैं। वह एक संरक्षित प्रजाति है।”

अफ्रीकी पेंगुइन, जो दक्षिणी अफ्रीका के तट और द्वीपों में रहते हैं, इंटरनेशनल यूनियन फॉर कन्जर्वेशन ऑफ नेचर्स की रेड लिस्ट में हैं। इसका अर्थ है कि वे विलुप्त होने के एक उच्च जोखिम का सामना कर रहे हैं।

पढ़ें :- Bangladesh News: बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ बढ़ रही हिंसा में दो लोगों की हत्या
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...