1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Swati Singh Jeevan Parichay: स्वाती सिंह के हाउसवाइफ से लेकर मंत्री तक का सफर, जानिए कैसे हुआ तय

Swati Singh Jeevan Parichay: स्वाती सिंह के हाउसवाइफ से लेकर मंत्री तक का सफर, जानिए कैसे हुआ तय

Swati Singh Jeevan Parichay: घर परिवार और रसोई का काम संभालने वालीं स्वाती सिंह (Swati Singh) भाजपा (BJP) की फायर ब्रांड नेता (Fire Brand Leader) के रूप में अपनी छवि बना ली है। न्याय प्रिय और लोगों से जुड़ाव उनको सभी नेताओं से कुछ अलग बनाती है। राजनीति में दिलचस्पी नहीं रखने वालीं स्वाती सिंह (Swati Singh) के जीवन में एक ऐसा मौका आया जब उन्हें अपना गृहस्थ जीवन छोड़कर इसमें आना पड़ा।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Swati Singh Jeevan Parichay: घर परिवार और रसोई का काम संभालने वालीं स्वाती सिंह (Swati Singh) भाजपा (BJP) की फायर ब्रांड नेता (Fire Brand Leader) के रूप में अपनी छवि बना ली है। न्याय प्रिय और लोगों से जुड़ाव उनको सभी नेताओं से कुछ अलग बनाती है। राजनीति में दिलचस्पी नहीं रखने वालीं स्वाती सिंह (Swati Singh) के जीवन में एक ऐसा मौका आया जब उन्हें अपना गृहस्थ जीवन छोड़कर इसमें आना पड़ा। राजनीति में आते ही उन्होंने भाजपा (BJP) की सदस्यता ली और लखनऊ के सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र (Sarojininagar Assembly of Lucknow) से चुनाव लड़ा और जीतकर विधानसभा पहुंची। साथ ही उन्हें सरकार में राज्यमंत्री भी बनाया गया।

पढ़ें :- Kailash Nath Shukla jeevan parichay : संगठन से लेकर सत्ता तक का कैलाश नाथ शुक्ल ने यूं तय किया सफर

जीवन शैली…
स्वाती सिंह (Swati Singh) का जन्म झारखंड के बोकारो स्टील सिटी में हुआ था। इनके पिता का नाम वीरेंद्र सिंह है। लखनऊ में स्वाती सिंह पली बढ़ी हैं। एमबीए और एलएलएम की पढ़ाई की है। लखनऊ विश्वविद्यालय से इन्होंने एलएलएम किया है। इसके बाद मूल रूप से बलिया निवासी दयाशंकर सिंह (Dayashankar Singh) से इनका विवाह हुआ। शादी के बाद स्वाती सिंह अपना गृहस्थ जीवन जी रहीं थीं। लेकिन 2016 में उनके पति दयाशंकर सिंह (Dayashankar Singh) द्वारा मायावती को अपशब्द कहे जाने के बाद उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। इसके बाद बसपा नेताओं ने दयाशंकर सिंह (Dayashankar Singh) की पत्नी और बच्चों को लेकर अपशब्द कहा। वहीं, इस मामले को लेकर स्वाती सिंह विरोधियों पर जमकर बरसीं, जिसके बाद कारण वह सुर्खियों में आ गईं।

राजनीतिक इतिहास
स्वाती सिंह (Swati Singh) ने 2016 में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सदस्यता ली। इससे पहले वह सामन्य गृहणी के रूप में रहती थीं। विधानसा चुनाव 2017 में भाजपा (BJP) ने इन्हें लखनऊ के ​सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र (Sarojininagar Assembly of Lucknow) का उम्मीदवार बनाया। चुनावी मैदान में उतरीं स्वाती सिंह बड़ें अंतर से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंची, जिसके बाद इन्हें राज्यमंत्री बनाया गया।

ये है पूरा सफरनामा
नाम — स्वाती सिंह
पिता — विरेंद्र कुमार सिंह
जन्मतिथि — 01 अगस्त, 1978
पति — दयाशंकर सिंह
बच्चे — एक पुत्र, एक पुत्री
शिक्षा — एम0बी0ए0, एल0एल0एम0
रूचि — पढना, खाना बनाना, चलचित्र एवं टीवी देखना

राजनीतिक योगदान
मार्च, 2017 — सत्रहवीं विधान सभा की सदस्या प्रथम बार निर्वाचित
मार्च, 2017 — राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) बाढ़ नियन्त्रण, कृषि निर्यात, कृषि विपणन, कृषि विदेश व्यापार, महिला कल्याण विभाग

पढ़ें :- Hakim Lal Bind jeevan parichay : हाकिम ने हाथी की सवारी तो नहीं चला हण्डिया सीट पर मोदी का जादू

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...