J&k में बैन के बाद भी चल रहा है अलगाववादी नेता का इंटरनेट, घेरे में BSNL के अधिकारी

Syed Ali Shah Geelani's
J&k में बैन के बाद भी चल रहा है अलगाववादी नेता का इंटरनेट, घेरे में बीएसएनल के अधिकारी

जम्मू। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से जम्मू कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद चल रही है। एक दिन के लिए इंटरनेट सेवा को बहाल किया गया था लेकिन सुरक्षा को देखते ही दोबारा इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया। इस दौरान एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ। इंटरनेट सेवा बंद होने के बाद भी अलगाववादी नेता सैय्यद अली शाह गिलानी इंटरनेट का प्रयोग कर रहा है।

Syed Ali Shah Geelanis Internet Is Running Even After Ban In Jk :

इसके साथ ही गिलानी का ट्विटर एकाउंट भी सक्रिय पाया गया है। यह मामला सामने आने के बाद बीएसएनएल के अधिकारी संदेह के घेरे में हैं और इसकी जांच शुरू हो गई है। सूत्रों की माने तो शुरूआती छानबीन में दो अधिकारियों की संलिप्तता सामने आ रही है, जो इंटरनेट बंद के बावजूद सैय्यद अली शाह गिलानी को एक्सेस दिया है।

सूत्रों के अनुसार प्रतिबंध के दौरान गिलानी के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट हो रहे हैं। अधिकारी यह जानकारी जुटाने में असमर्थ रहे कि गिलानी कश्मीर में इंटरनेट एक्सेस कर रहे हैं या नहीं। गिलानी के अकाउंट से लगातार भारत विरोधी पोस्ट किये जा रहे हैं। बता दें कि, जम्मू कश्मीर में दोबार इंटरनेट सेवा शुरू होने के कुछ देर बाद उसे बंद कर दिया गया था।

वहीं, जम्मू-कश्मीर के गृह विभाग की तरफ से सोमवार सुबह एक बयान जारी किया गया है। पुलिस द्वारा बताया गया कि एक अफवाह फैलाई जा रही है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस के हथियार जब्त किए जा रहे हैं, लेकिन ये अफवाह गलत हैं। गृह विभाग की तरफ से अपील की गई है कि इस तरह की किसी खबर पर विश्वास ना करें।

जम्मू। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से जम्मू कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद चल रही है। एक दिन के लिए इंटरनेट सेवा को बहाल किया गया था लेकिन सुरक्षा को देखते ही दोबारा इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया। इस दौरान एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ। इंटरनेट सेवा बंद होने के बाद भी अलगाववादी नेता सैय्यद अली शाह गिलानी इंटरनेट का प्रयोग कर रहा है। इसके साथ ही गिलानी का ट्विटर एकाउंट भी सक्रिय पाया गया है। यह मामला सामने आने के बाद बीएसएनएल के अधिकारी संदेह के घेरे में हैं और इसकी जांच शुरू हो गई है। सूत्रों की माने तो शुरूआती छानबीन में दो अधिकारियों की संलिप्तता सामने आ रही है, जो इंटरनेट बंद के बावजूद सैय्यद अली शाह गिलानी को एक्सेस दिया है। सूत्रों के अनुसार प्रतिबंध के दौरान गिलानी के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट हो रहे हैं। अधिकारी यह जानकारी जुटाने में असमर्थ रहे कि गिलानी कश्मीर में इंटरनेट एक्सेस कर रहे हैं या नहीं। गिलानी के अकाउंट से लगातार भारत विरोधी पोस्ट किये जा रहे हैं। बता दें कि, जम्मू कश्मीर में दोबार इंटरनेट सेवा शुरू होने के कुछ देर बाद उसे बंद कर दिया गया था। वहीं, जम्मू-कश्मीर के गृह विभाग की तरफ से सोमवार सुबह एक बयान जारी किया गया है। पुलिस द्वारा बताया गया कि एक अफवाह फैलाई जा रही है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस के हथियार जब्त किए जा रहे हैं, लेकिन ये अफवाह गलत हैं। गृह विभाग की तरफ से अपील की गई है कि इस तरह की किसी खबर पर विश्वास ना करें।