आतंकी सैयद सलाहुद्दीन पर शिकंजा, जम्मू—कश्मीर में मौजूद 13 संपत्तियां जब्त

atanki
आतंकी सैयद सलाहुद्दीन की जम्मू—कश्मीर में 13 संपत्तियां जब्त, अब इस तरह और कसेगा शिकंजा

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन की जम्मू—कश्मीर में स्थित 13
संपत्तियों को ईडी ने जब्त कर लिया है। सैयद सलाहुद्दीन पाकिस्तान में रहकर वहां से अपने आतंकी संगठन का संचालन करता है। यह कार्रवाई ईडी ने सैयद सलाहुद्दीन के खिलाफ चल रही टेरर फंडिंग की जांच के सिलसिले में की है।

Syed Salahuddin Seized 13 Properties In Jammu And Kashmir :

आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन पाकिस्तान में बैठकर अपने आतंकी संगठन को संचालन कर रहा है। इसके खिलाफ टेरर फंडिंग की जांच चल रही थी। इसी के तहत केंद्रीय जांच एजेंसी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत बांदीपोरा के रहने वाले मोहम्मद शफी शाह और सूबे के छह लोगों से जुड़ी 1.22 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त करने का प्रोविजनल ऑर्डर जारी किया है।

ये सभी कथित तौर पर आतंकी संगठन के लिए काम करते हैं। इ्डी ने बताया कि आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन, शाह और दूसरों के खिलाफ अनलॉफुल ऐक्टिविजिज प्रिवेंशन ऐक्शन (UAPA) यानी गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कार्रवाई के तहत दाखिल चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए उसने मनी लॉन्ड्रिंग का एक आपराधिक केस दर्ज किया है।

ईडी ने कहा है कि हिज्बुल मुजाहिदीन कश्मीर में सक्रिय रहता है। इसके साथ ही आतंकियों और जम्मू कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए फंडिंग देने का काम करता है। ईडी ने अपने बयान में बताया कि जांच में पता चला है कि ‘टेरर फंडों’ को भारत में हवाला और दूसरे चैनलों के जरिए भेजा जाता था। शाह कथित टेरर फंडिंग के एक मामले में दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद है।

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन की जम्मू—कश्मीर में स्थित 13
संपत्तियों को ईडी ने जब्त कर लिया है। सैयद सलाहुद्दीन पाकिस्तान में रहकर वहां से अपने आतंकी संगठन का संचालन करता है। यह कार्रवाई ईडी ने सैयद सलाहुद्दीन के खिलाफ चल रही टेरर फंडिंग की जांच के सिलसिले में की है।

आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन पाकिस्तान में बैठकर अपने आतंकी संगठन को संचालन कर रहा है। इसके खिलाफ टेरर फंडिंग की जांच चल रही थी। इसी के तहत केंद्रीय जांच एजेंसी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत बांदीपोरा के रहने वाले मोहम्मद शफी शाह और सूबे के छह लोगों से जुड़ी 1.22 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त करने का प्रोविजनल ऑर्डर जारी किया है।

ये सभी कथित तौर पर आतंकी संगठन के लिए काम करते हैं। इ्डी ने बताया कि आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन, शाह और दूसरों के खिलाफ अनलॉफुल ऐक्टिविजिज प्रिवेंशन ऐक्शन (UAPA) यानी गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कार्रवाई के तहत दाखिल चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए उसने मनी लॉन्ड्रिंग का एक आपराधिक केस दर्ज किया है।

ईडी ने कहा है कि हिज्बुल मुजाहिदीन कश्मीर में सक्रिय रहता है। इसके साथ ही आतंकियों और जम्मू कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए फंडिंग देने का काम करता है। ईडी ने अपने बयान में बताया कि जांच में पता चला है कि 'टेरर फंडों' को भारत में हवाला और दूसरे चैनलों के जरिए भेजा जाता था। शाह कथित टेरर फंडिंग के एक मामले में दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद है।