इजरायल को सीरिया ने दिया कड़ा जवाब, मार गिराए कई मिसाइल

iran
इजरायल को सीरिया ने दिया कड़ा जवाब, मार गिराए कई मिसाइल

नई दिल्ली। सीरिया के एयर डिफेंस ने इजरायल के मिसाइलों पर फायरिंग की है। बताया जा रहा है कि इसमें सीरिया ने इजरायल के कई मिसाइलों को मार गिराया है। सूत्रों के अनुसार, ये मिसाइलें गोलन पहाड़ी क्षेत्र के नजदीक स्थित सीरियाई क्षेत्र ताल अल-हारा को निशाना बनाकर दागी गई थीं। लेकिन सीरिया की अलर्ट हवाई रक्षा प्रणाली ने उन्हें बीच रास्ते में ही नष्ट कर दिया। इस हमले में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

Syria Air Defenses Thwart Israeli Attack :

पिछले महीने सीरियाई सेना ने कहा था कि दक्षिणी प्रांत क्यूनेत्रा की दिशा से दुश्मनों के हमलों के जवाब में वायु सेना ने यह कार्रवाई की थी। इस बीच शाम को राजधानी के लोगों ने कई धमाके की आवाज सुनी थी। इजरायल इस बहाने से बार-बार सीरियाई स्थानों पर हमला करता रहा है कि वह लेबनानी हिजबुल्ला समूह जैसे ईरान समर्थित संगठनों के ठिकानों पर हमला कर रहा है।

पिछले माह इजरायल के हमले में सीरिया के 15 जवान मारे गए थे। इस साल जनवरी में सीरिया में ईरान समर्थित हिजबुल्ला के ठिकानों पर इजरायली हमले में 21 लड़ाके मारे गए थे। इजरायल का कहना है कि वह सीरिया में अपने कट्टर दुश्मन ईरान को किसी भी कीमत पर जड़ें जमाने नहीं देगा।

नई दिल्ली। सीरिया के एयर डिफेंस ने इजरायल के मिसाइलों पर फायरिंग की है। बताया जा रहा है कि इसमें सीरिया ने इजरायल के कई मिसाइलों को मार गिराया है। सूत्रों के अनुसार, ये मिसाइलें गोलन पहाड़ी क्षेत्र के नजदीक स्थित सीरियाई क्षेत्र ताल अल-हारा को निशाना बनाकर दागी गई थीं। लेकिन सीरिया की अलर्ट हवाई रक्षा प्रणाली ने उन्हें बीच रास्ते में ही नष्ट कर दिया। इस हमले में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। पिछले महीने सीरियाई सेना ने कहा था कि दक्षिणी प्रांत क्यूनेत्रा की दिशा से दुश्मनों के हमलों के जवाब में वायु सेना ने यह कार्रवाई की थी। इस बीच शाम को राजधानी के लोगों ने कई धमाके की आवाज सुनी थी। इजरायल इस बहाने से बार-बार सीरियाई स्थानों पर हमला करता रहा है कि वह लेबनानी हिजबुल्ला समूह जैसे ईरान समर्थित संगठनों के ठिकानों पर हमला कर रहा है। पिछले माह इजरायल के हमले में सीरिया के 15 जवान मारे गए थे। इस साल जनवरी में सीरिया में ईरान समर्थित हिजबुल्ला के ठिकानों पर इजरायली हमले में 21 लड़ाके मारे गए थे। इजरायल का कहना है कि वह सीरिया में अपने कट्टर दुश्मन ईरान को किसी भी कीमत पर जड़ें जमाने नहीं देगा।