1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. तब्लीगी मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा-अभिव्यक्ति की आजादी का हाल के समय सबसे ज्यादा दुरुपयोग

तब्लीगी मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा-अभिव्यक्ति की आजादी का हाल के समय सबसे ज्यादा दुरुपयोग

Tablighi Case Supreme Court Said The Most Abused Freedom Of Expression

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। तबलीगी जमात से जुड़ी याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हाल के समय में अभिव्यक्ति की आजादी का सबसे अधिक दुरुपयोग हो रहा है। इन याचिकाओं में तबलीगी जमात के खिलाफ फेक न्यूज प्रसारित करने और निजामुद्दीन मरकज घटना का सांप्रदायिक रूप देने का का आरोप लगाकर टीवी चैनलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। चीफ जस्टिस एसए बोबड़े की अगुआई वाली पीठ ने केंद्र सरकार की ओर से दायर हलफनामे पर भी कड़ी प्रतिक्रिया दी और कहा कि इसे किसी जूनियर अधिकारी द्वारा फाइल किया गया है।

पढ़ें :- UPSC उम्मीदवारों को सुप्रीम कोर्ट से झटका, सिविल सेवा परीक्षा में नहीं मिलेगा अतिरिक्त मौका

साथ ही कहा कि इसमें याचिकाकर्ता द्वारा उठाए गए गलत रिपोर्टिंग के एक भी मामले को विशिष्ट रूप से संबोधित नहीं किया गया है। चीफ जस्टिस बोबड़े ने सॉलिसिटर जनरल से कहा, ”आप इस कोर्ट के साथ इस तरह का व्यवहार नहीं कर सकते हैं। हलफमाना एक जूनियर अधिकारी द्वारा दायर किया गया है। यह बहुत गोलमोल है और खराब रिपोर्टिंग की किसी घटना पर प्रतिक्रिया नहीं है।” कोर्ट ने मेहता से यह सुनिश्चित करने को कहा कि संबंधित विभाग के सचिव नया हलफनामा दायर करें।

चीफ जस्टिस ने कहा, ”सचिव को हमें बताना है कि वह विशिष्ट घटनाओं (याचिकार्ता की ओर से उठाए गए) के बारे में क्या सोचते हैं और इस तरह का बेतुका जवाब ना दें जिस तरह अभी दिया गया है।” मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी। बता दें कि जमियत उलेमा-ए-हिंद, पीस पार्टी, डीजे हल्ली फेडरेशन ऑफ मस्जिद मदारिस, वक्फ इंस्टीट्यूट और अब्दुल कुद्दुस लस्कर की ओर से दायर याचिकाओं में आरोप लगाया गया है कि मीडिया की रिपोर्टिंग एकतरफा थी और मुस्लिम समुदाय का गलत चित्रण किया गया।

 

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, संसद भंग करने के फैसले को पलटा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...